Home » खेल » Rio Olympic: Sania Mirza-Rohan Bopanna reach mixed doubles semis, Boxer Vikas Krishan a win away from medal
 

रियो ओलंपिक: बॉक्सर विकास कृष्ण मेडल से एक कदम दूर, सानिया-बोपन्ना अंतिम 4 में

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 August 2016, 10:18 IST
(ट्विटर)

रियो ओलंपिक के सातवें दिन भारत के लिए अच्छी खबर है. बॉक्सिंग और टेनिस में पदक की उम्मीद बढ़ गई है. जहां एक ओर बॉक्सर विकास कृष्ण यादव तुर्की के मुक्केबाज को मात देकर क्वार्टर फाइनल में पहुंच गए हैं, वहीं दूसरी ओर टेनिस मिश्रित युगल में सानिया मिर्जा और रोहन बोपन्ना की जोड़ी ने अंतिम चार में जगह बनाई है.

मुक्केबाजी में विकास कृष्ण ने शुक्रवार को अपने दूसरे मुकाबले में तुर्की के ओंडेस सिपाल को हराकर क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली है. विकास की 75 किलोग्राम (मिडिलवेट) वर्ग में यह दूसरी जीत है. विकास ने यह बाजी 3-0 से अपने नाम की.

साल 2011 में आयोजित विश्व चैम्पियनशिप में पदक जीत चुके हरियाणा के विकास ने तीन राउंड तक चले मुकाबले में वर्चस्व कायम रखते हुए 30-27, 29-28 और 29-28 से जीत हासिल की.

अब मेडल पक्का करने के लिए विकास को उजबेकिस्तान के बेकतेमीर मेलिकुजीव से मुकाबला करना है. मेलिकुजीव ने अपने दूसरे दौर के मुकाबले में आस्ट्रेलिया के जेसन डेनियल को 30-27, 30-26 और 30-27 से हराया.   

पदक के करीब सानिया-बोपन्ना

इस बीच टेनिस के मिक्स्ड डबल्स मुकाबलों में सानिया मिर्जा और रोहन बोपन्ना की जोड़ी सेमीफाइनल में पहुंच गई है. क्वार्टर फाइनल मुकाबले में सानिया और बोपन्ना की जोड़ी ने ब्रिटेन के एंडी मरे और हीथर वॉटसन की जोड़ी को एकतरफा मुकाबले में शिकस्त दी.

सानिया और बोपन्ना की भारतीय जोड़ी ने ब्रिटिश जोड़ी को 6-4, 6-4 से हराकर सेमीफाइनल में जगह बना ली है. इस जीत के साथ ही भारत की टेनिस में पदक की उम्मीद भी बढ़ गई है.

पहले मुकाबले में सानिया और बोपन्ना ने ऑस्ट्रेलियाई जोड़ी सामंथा स्ट्रोसुर और जॉनथान पीयर्स को मात दी थी.

भारतीय जोड़ी का जानदार प्रदर्शन

मैच के शुरुआती हिस्से में भारतीय जोड़ी ने कुछ गलतियां कीं. पहले सेट में भारतीय जोड़ी 0-2 से पिछड़ गई. लेकिन इसके बाद बेहतरीन वापसी करते हुए पहला सेट 6-4 से अपने नाम कर लिया.

दूसरे सेट में भी भारतीय जोड़ी मरे और वॉटसन पर पूरी तरह हावी रही और 6-4 से दूसरा सेट जीतकर मुकाबले को अपने नाम कर लिया.

सानिया और रोहन को सेमीफाइनल में हार भी मिलती है, तो इस भारतीय जोड़ी के पास ब्रॉन्ज मेडल हासिल करने का एक और मौका होगा. लेकिन जिस तरह के फॉर्म में सानिया और बोपन्ना हैं, उससे सेमीफाइनल में भी उनकी जीत की उम्मीदें बढ़ गई हैं.

First published: 13 August 2016, 10:18 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी