Home » खेल » Rio olympics 2016: after defeating belgium argentina won their first olympic medal in hockey
 

रियो ओलंपिक: हॉकी को मिला नया चैंपियन, बेल्जियम को हराकर अर्जेंटीना ने पहली बार जीता गोल्ड

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 August 2016, 17:43 IST
(रियो ओलंपिक)

रियो ओलंपिक में अर्जेंटीना ने बेल्जियम को 4-2 से हराकर ओलंपिक पुरुष हॉकी का स्वर्ण पदक जीत लिया है.

पहले हाफ में 10 मिनट के भीतर दनादन गोल दागकर अर्जेंटीना ने पहली बार ओलंपिक पुरुष हॉकी का स्वर्ण अपने नाम किया. इसके साथ ही अर्जेंटीना ने ओलंपिक में अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की बराबरी करते हुए तीन स्वर्ण पदक जीत लिये जो आखिरी बार उसने 1948 में जीते थे. रियो ओलंपिक में अर्जेंटीना अब तक 3 गोल्ड और 1 कांस्य समेत 4 पदक जीतकर तालिका में 22वें स्थान पर है.

इससे पहले बेल्जियम ने सेमीफाइनल में नीदरलैंड को 3-1 से हराया था. वहीं दूसरे सेमीफाइनल में अर्जेंटीना ने ओलंपिक चैंपियन जर्मनी को 5-2 से हराकर फाइनल में प्रवेश किया था.

रियो ओलंपिक में 11 गोल करने वाले गोंजालो पेलाट ने कहा ,‘‘यह आसमान को मुट्ठी में करने जैसा है. हमने पहली बार अर्जेंटीना के लिये हाकी का स्वर्ण जीता.’’ पहली बार फाइनल खेल रही बेल्जियम टीम के लिये तीसरे ही मिनट में टेंगाय कोसिंस ने गोल किया.

पहले क्वार्टर में अर्जेंटीना के लिये प्रेडो इबारा, इग्नासियो ओर्तिज और पेलाट ने गोल दागे. बेल्जियम के लिये दूसरा गोल गौतियेर बोकार्ड ने किया लेकिन आगस्टिन माजिली ने चौथा गोल करके अर्जेंटीना की जीत तय कर दी.

बेल्जियम और अर्जेंटीना की टीमें पहली बार खिताबी मुकाबले में पहुंची थीं. इससे पहले 1996 में अंतिम बार दो ऐसी टीमें फाइनल में पहुंची थीं जो एक भी खिताब नहीं जीत सकीं थीं. तब नीदरलैंड ने स्पेन को 3-1 से हराकर पहली बार खिताब जीता था.

बेल्जियम और अर्जेंटीना की टीमें पहली बार खिताबी मुकाबले में पहुंची थीं. इससे पहले 1996 में अंतिम बार दो ऐसी टीमें फाइनल में पहुंची थीं जो एक भी खिताब नहीं जीत सकीं थीं. तब नीदरलैंड ने स्पेन को 3-1 से हराकर पहली बार खिताब जीता था.

First published: 19 August 2016, 17:43 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी