Home » खेल » Rio Olympics 2016: Archer Atanu Das, Boxer Vikas Krishan stand out
 

रियो ओलंपिक 2016: तीरंदाज अतानु दास और बॉक्सर विकास कृष्णन अंतिम 16 में

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 August 2016, 13:13 IST
(कैच न्यूज)

रियो ओलंपिक में मंगलवार का दिन  भारतीय खिलाड़ियों के लिये अच्छा रहा. तीरंदाज अतानु दास और मुक्केबाज विकास कृष्णन प्री क्वार्टर फाइनल में पहुंच गए, जबकि पुरुष हॉकी टीम ने अर्जेंटीना को शिकस्त देकर अंतिम आठ में जगह बनाई है.

अतानु दास ने बनाई अंतिम 16 में जगह

भारतीय खिलाड़ियों के रियो ओलिंपिक में लगातार लचर प्रदर्शन के बीच तीरंदाज अतानु दास ने पुरुषों की व्यक्तिगत रिकर्व एलिमिनेशन दौर के प्री-क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया.

दास ने नेपाल के जीत बहादुर मुक्तान को 6-0 से हराने के बाद क्यूबा के एड्रियन आंद्रेस प्यूंटेस परेज को 6-4 से मात दी. अब उनका सामना दुनिया के पूर्व पांचवें नंबर के तीरंदाज कोरिया के ली सियुंग युन से 12 अगस्त को होगा. ली मौजूदा खेलों में टीम रिकर्व स्पर्धा का स्वर्ण पदक जीतने वाली कोरियाई टीम में थे.

दास की सबसे बड़ी खूबी पांचवें और आखिरी सेट में आखिरी शॉट के समय संयम बनाये रखना थी. उस समय स्कोर 19.18 था और 10 अंक लेने पर ही वह अंतिम 16 में जगह बना सकते थे. दास ने परफेक्ट 10 स्कोर करके सेट 29-28 से जीता. उन्होंने 28-26, 29-26, 26-27, 27-28, 29-28 से जीत दर्ज की. इससे पहले उन्होंने मुक्तान को 29-26, 29-24, 30-26 से हराया.

बॉक्सिंग में जीत से शुरुआत

वहीं भारतीय मुक्केबाज विकास कृष्णन यादव ने पुरुषों की 75 किलोग्राम मिडिलवेट स्पर्धा का पहला मुकाबला जीतकर प्री-क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई. एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता विकास कृष्णन ने अमेरिका के चार्ल्स कोनवेल को 3-0 से धूल चटाते हुए जीत का आगाज किया.

विकास का सामना अब 12 अगस्त को प्री-क्वार्टर फाइनल मुकाबले में तुर्की के सिपल ओंडर से होगा, जिन्होंने जाम्बिया के बेनी मुजियो को मात दी है.

एपी

18 वर्षीय कॉनवेल भारतीय मुक्केबाज विकास के सामने संघर्ष करते दिखे. विकास ने पहले ही राउंड से अपने विरोधी मुक्केबाज पर दबाव बनाए रखा और अपने सीधे मुक्कों से अहम प्वाइंट हासिल किए. पहले राउंड में विकास को तीनों जजों ने 10-10 अंक दिए, जबकि अमेरिकी मुक्केबाज 9-9 अंक ही हासिल कर सका.

दूसरे राउंड में भी विकास तकनीकी रूप से आगे रहे. दूसरे राउंड के लिए विकास को पहले जज ने नौ अंक दिए, जबकि बाकी जजों ने 10-10 अंक दिए. दूसरी ओर कोनवेल को सिर्फ एक जज ने 10 अंक दिए.

फाइनल राउंड दोनों खिलाड़ियों के बीच टाई रहा, लेकिन भारतीय मुक्केबाज ने शुरुआती दो राउंड में अच्छे प्रदर्शन की बदौलत यह मुकाबला 3-0 से अपने नाम कर लिया.

First published: 10 August 2016, 13:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी