Home » खेल » rio olympics 2016: medal hope from saina nehwal
 

रियो ओलंपिक: इतिहास बनाने के इरादे से उतरेंगी साइना नेहवाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 7:47 IST

गुरुवार को रियो ओलंपिक में भारतीय बैडमिंटन स्टार साइना नेहवाल और छह अन्य खिलाड़ी अपने अभियान का आगाज करेंगे. नेहवाल को रियो ओलंपिक महिला एकल वर्ग में पांचवीं वरीयता दी गई है. साइना की वर्तमान फॉर्म में देखते हुए माना जा रहा है कि इस बार वे पिछले ओलंपिक तुलना में अपना रिकॉर्ड सुधारने में सफल रहेंगी.

लंदन ओलंपिक (2012) में साइना नेहवाल पदक जीतने में कामयाब रहीं. तीसरे स्थान के लिए हुए मैच में चीन की खिलाड़ी शिन वांग उनसे एक गेम जीत चुकी थी, लेकिन घायल होने के कारण वे मैच से हट गईं और साइना को कांस्य पदक मिल गया. भारत को बैडमिंटन में ओलंपिक पदक दिलाने वाली साइना एकलौती खिलाड़ी हैं.

विश्व जूनियर बैडमिंटन चैंपियनशिप 2008 में साइना स्वर्ण पदक जीत चुकी हैं. इसी साल उन्होंने बीजिंग ओलंपिक में क्वार्टर फाइनल तक का सफर किया.

साइना के जिंदगी में लंदन ओलंपिक के बाद सबसे बड़ा मुकाम 2015 में तब आया जब वह महिला एकल में विश्व की नंबर वन खिलाड़ी बनीं. इसी साल उन्होंने जकार्ता में विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल जीता. हालांकि वो स्वर्ण जीतने से चूक गईं, लेकिन यह भी एक बड़ी उपलब्धि रही.

रियो में साइना के अलावा महिला एकल में पीवी सिंधू, पुरुष एकल में किदांबी श्रीकांत, महिला युगल में ज्वाला गुट्टा- अश्विनी पोनप्पा और पुरुष युगल में मनु अत्री- बी सुमीत रेड्डी की जोड़ी हिस्सा ले रहे हैं.

First published: 10 August 2016, 5:41 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी