Home » खेल » Rio Olympics: Twitter trends after PV Sindhu storms into Badminton Semi Finals
 

'भारतीय बैडमिंटन के बगीचे की खिलती हुई नई सुगंधित कली हैं सिंधू'

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 August 2016, 10:49 IST
(ट्विटर)

रियो ओलंपिक में महिला बैंडमिंटन सिंगल्स के सेमीफाइनल में जगह पक्की करने के बाद सोशल मीडिया पर पीवी सिंधू छा गई हैं. सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर पर भी उनकी हौसला अफजाई करते हुए ट्वीट देखने को मिल रहे हैं.

रियो ओलंपिक में अब तक भारत को कोई मेडल नहीं मिल सका है. ऐसे में सिंधू का मेडल से एक कदम दूर होना देशवासियों में नई उम्मीदें जगा रहा है. सेमीफाइनल में उनकी टक्कर जापान की निजोमी ओकुहारा से होगी. अगर यह मुकाबला वो जीतती हैं तो उनका रजत पदक तो हर हाल में पक्का हो जाएगा.

ट्विटर पर सुबह से ही पीवी सिंधू ट्रेंड कर रहा है. ट्विटर हैंडल इंडिया एट रियो से ट्वीट किया गया, "हमारे चेहरों पर मुस्कान लाने के लिए शुक्रिया. अब तक रियो में हमारे लिए जो मायूसी रही है, उसमें ये बहुत ज़रूरी था."

खेल पत्रकार अयाज मेमन ने ट्वीट किया, "पीवी सिंधू ने 2012 की रजत पदक विजेता वांग यिहान को हरा कर पदक की उम्मीदें बरकरार रखी हैं. वो रियो में जबरदस्त फॉर्म में हैं."

वहीं अवेकेंड इंडियन ट्विटर हैंडल से लिखा गया, "सिंधू भारतीय बैडमिंटन के बगीचे में खिल रहे नए सुगंधित फूल की कली हैं. उनके पास क्षमता है और वो निश्चित तौर पर वर्ल्ड नंबर वन बनेंगी." 

जापान की ओकुहारा और सिंधू के बीच अब तक चार मुकाबले हुए हैं, जिनमें से एक में सिंधू को जीत मिली है. (ट्विटर)

'सभी प्रेरित करने वाले खिलाड़ी महिलाएं'

भरत नाम के एक ट्विटर यूजर ने लिखा, "काम अभी पूरा नहीं हुआ है. बिंद्रा, सानिया और बोपन्ना भी इसी स्टेज तक पहुंच गए थे, लेकिन पदक नहीं जीत पाए. उम्मीद है कि ऐसा फिर से नहीं होगा."

क्वार्टर फाइनल में दुनिया की नंबर दो खिलाड़ी को हराने वाली सिंधू के बारे में रौनक ने लिखा, "सेमीफाइनल में उनका मुक़ाबला कमजोर प्रतिद्ंद्वी से होगा. उम्मीद है कि रियो से भारत के लिए अच्छी ख़बर आएगी."

वहीं शिल्पी तिवारी ने ट्वीट किया, "क्या मैच था! सिंधू बहुत ही ज़बरदस्त खेलीं और पूर्व चैंपियन को हराया."

पत्रकार सचिन कालबाग ने ट्वीट किया, "हाल के सालों में भारत के सभी प्रेरित करने वाले खिलाड़ी महिलाएं रही हैं. मैरी कॉम, साइना, सिंधू, सानिया, दीपा, फोगट बहनें आदि."

क्वार्टर फाइनल में सिंधू ने दुनिया की नंबर दो खिलाड़ी चीन की वैंग यिहांग को हराया. (ट्विटर)

कोच गोपीचंद ने की जमकर तारीफ

सिंधू के कोच और उनके प्रेरणास्रोत पुलेला गोपीचंद ने उनकी जमकर तारीफ की. गोपीचंद ने कहा, "मैं समझता हूं कि सिंधू वाकई बहुत शानदार खेलीं. वह बिल्कुल स्पष्ट रणनीति के साथ खेल रही थीं और इस तरह के बड़े मैचो में आपकी रणनीति स्पष्ट होनी जरूरी है.

कुल मिलाकर सिंधू ने शानदार खेल दिखाया और मानसिक रूप से काफी मजबूत दिखीं. यह अच्छा संकेत है. कुछ क्षेत्रों में सुधार के बाद सिंधू को हराना मुश्किल होगा."

पूर्व एशियाई और विश्व चैम्पियन वांग के खिलाफ कठिन मुकाबले में जीत के साथ सिंधू ने यह सुनिश्चित करने की ओर बड़ा कदम बढ़ाया है कि भारत को बैडमिंटन में खाली हाथ नहीं लौटना होगा. पुरुष एकल वर्ग मे भी भारत के लिए पदक की उम्मीदें हैं, क्योंकि किदाम्बी श्रीकांत एकल मुकाबले के क्वार्टर फाइलन में पहुंच चुके हैं.

First published: 17 August 2016, 10:49 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी