Home » खेल » Russia is killing stray dogs ahead fifa world cup 2018, Animal rights activists are fighting back
 

FIFA World Cup से पहले रूस में 20000 कुत्तों को मारने का आदेश, विवाद शुरू

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 June 2018, 16:02 IST

रूस की मेजबानी में 14 जून से FIFA वर्ल्ड कप 2018 की शुरुआत हो रही है. इसमें अब एक हफ्ते से भी कम समय बचा है. इसकी सारी तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी है. इस टूर्नामेंट में 32 टीमें हिस्सा ले रही हैं. जो खेलने के लिए रूस पहुंच चुकी हैं. FIFA वर्ल्ड कप 2018 के मैचों का आयोजन रूस के 11 शहरों में किया जाएगा.

हालांकि FIFA वर्ल्ड कप 2018 के शुरू होने से पहले ही इसके साथ विवाद जुड़ गया है. हालांकि ऐसा पहली बार नहीं है जब फीफा विश्वकप के साथ विवाद का जुड़ा है. इससे पहले भी इसका नाता विवादों से रहा है. फीफा के आयोजन को लेकर रूस सरकार के एक आदेश ने विवाद को जन्म दे दिया है. जो अब तूल पकड़ता जा रहा है.

दरअसल रूस सरकार ने फीफा के शुरू होने से पहले देश के 11 शहरों में 20 लाख स्ट्रीट डॉग्स और बिल्लियों को मारने का आदेश दिया है. सरकार ने इसके लिए 19.5 लाख डॉलर (करीब 13 करोड़ रुपए) का कॉन्ट्रैक्ट दिया है. वहीं इन जानवरों का मारने वाले स्क्वाड का नाम 'कैनी KGB' रखा गया है. इसको लेकर विवाद शुरू हो गया है. जानवरों के अधिकारों के लिए काम करने वाली संस्थाओं ने सरकार के इस फैसले को लेकर आपत्ति दर्ज कराई है.

The Peninsula Qatar

उनका कहना है कि सरकार एक इवेंट के लिए इतने बेजुवान जानवरों की हत्या करने जा रही है. पहले भी पक्षियों को जिंदा जलाया गया था. हालांकि विवाद बढ़ता देख सरकार ने दखल देते जानवरों के अधिकारों के लिए काम करने वाली संस्थाओं से बात की है.

रूस के उप प्रधानमंत्री विटाली मुटको आश्वासन दिया है कि जानवरों को मारने की जगह पर उनको शेल्टर्स हाउस में बंद किया जाएगा. फीफा की समाप्ति के बाद इन जानवरों को रिहा कर दिया जाएगा. हालांकि इन संस्थाओं का आरोप है कि उप प्रधानमंत्री के आश्वासन के बाद भी जानवरों हत्या हो रही है.

First published: 8 June 2018, 16:02 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी