Home » खेल » Russia May Face Olympics Ban as Doping Scheme Is Confirmed
 

रियो ओलंपिक: रूस के बाहर होने की संभावना बढ़ी

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:48 IST

अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) के सदस्य मंगलवार को आपात बैठक करने जा रहे हैं. इस बैठक में रियो ओलंपिक में रूस की भागीदारी पर फैसला होगा. विश्व डोपिंग निरोधक एजेंसी (वाडा) ने रूस के सभी खिलाड़ियों और अधिकारियों को 5 अगस्त से शुरू हो रहे रियो ओलंपिक से बाहर करने की मांग की है.

दो साल तक चली जांच के बाद यह खुलासा हुआ है कि रूसी खिलाड़ी 2014 के सोच्चि शीतकालीन खेलों समेत अन्य टूर्नामेंटों में प्रतिबंधित दवाओं का सेवन कर रहे थे. कनाडा के कानूनी विशेषज्ञ रिचर्ड मैकलारेन ने वाडा के लिये की गई जांच में पाया कि रूस की खुफिया सेवा ने डोपिंग में मदद की और पिछले पांच साल में यह 30 खेलों तक फैला था.

वाडा की कार्यकारी समिति ने कहा कि डोपिंग स्कैंडल में शामिल रूस के तमाम अधिकारियों को बर्खास्त किया जाना चाहिये. साथ ही, रूसी सरकारी अधिकारियों को रियो ओलंपिक समेत अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंटों में प्रवेश नहीं मिलना चाहिए.

पिछले महीने ट्रैक एवं फील्ड की संचालन संस्था रूस की एथलेटिक्स टीम पर प्रतिबंध लगा चुकी है. इसके बाद रूस के एथलेटिक्स महासंघ ने 68 एथलीटों की सूची जारी की है और ओलंपिक समिति से इन खिलाड़ियों को खेलने देने का अनुरोध किया. हालांकि अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक महासंघ (आईएएएफ) ने रूस के 67 एथलीटों की अगस्त में होने वाले रियो ओलंपिक खेलों में बतौर स्वतंत्र खिलाड़ी उतरने की अपील को खारिज कर दिया है.

First published: 19 July 2016, 2:15 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी