Home » खेल » Sarita Devi becomes the first Indian woman boxer to turn professional
 

सरिता देवी भारत की पहली महिला प्रोफेशनल बॉक्सर बनीं

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 January 2017, 11:21 IST
(फेसबुक)

पूर्व विश्व चैम्पियन लैशराम सरिता देवी ने पेशेवर बॉक्सिंग के रिंग में उतरने का फैसला किया है. सरिता देवी 29 जनवरी को अपने गृह नगर इम्फाल में होने वाली ‘फाइट नाइट’ में हंगरी की सोफिया बेदो के खिलाफ पेशेवर मुक्केबाजी में पदार्पण करेंगी. इस दिन सरिता देवी प्रोफेशनल बॉक्सिंग में कदम रखने वाली भारत की पहली मुक्केबाज बन जाएंगी. 

सरिता को अपने पहले ही मुकाबले में अनुभवी बेदो से भिड़ना है जिन्हें 59 पेशेवर मुकाबले खेलने का अनुभव है. हंगरी की इस मुक्केबाज ने अब तक 19 मुकाबले जीते हैं. 

31 साल की सरिता इस समय अमेरिकी कोच जो क्लो के साथ ट्रेनिंग कर रही हैं. 73 साल के क्लो मोहम्मद अली कोचिंग टीम का हिस्सा रहे हैं. उन्होंने इवांडर होलीफील्ड को भी कोचिंग दी है.

सरिता ने कहा, ‘मैं कड़ी ट्रेनिंग कर रही हूं और मैं कड़ी टक्कर दूंगी.’ मणिपुर की इस मुक्केबाज ने कहा, ‘पेशेवर बनना सिर्फ कुछ मुकाबले जीतना या हारना नहीं है. मेरे करियर का सबसे महत्वपूर्ण फैसला मेरे लिए मिशन भी है. मैं किसी औसत प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ शुरुआत नहीं करना चाहती. मैं अपने करियर में काफी देर से पेशेवर सर्किट से जुड़ी हूं. मुझे अपने लक्ष्य हासिल करने के लिए तेजी से कदम बढ़ाने होंगे. प्रतिद्वंद्वी जितना मजबूत होगा मेरी पेशेवर रैंकिंग में सुधार की संभावना उतनी अधिक होगी.’

सरिता रोमांचित हैं कि उनके करियर के सबसे महत्वपूर्ण मुकाबले का आयोजन उनके गृहनगर में किया जा रहा है.  सरिता ने 2014 के कॉमनवेल्थ खेलों में रजत जीता था. इसी साल इंचियोन एशियाई खेलों में गलत फैसलों की वजह से उन्हें शिकस्त खानी पड़ी. इसका विरोध उन्होंने किया था, जिससे काफी विवाद हुआ था. सरिता ने कांस्य पदक लेने से इनकार कर दिया था. उन्हें इसके बाद प्रतिबंध झेलना पड़ा था. सरिता की मणिपुर में बॉक्सिंग एकेडमी भी है.

First published: 13 January 2017, 11:21 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी