Home » खेल » Suresh Kalmadi and Abhay Chautala's IOA lifetime president row
 

सुरेश कलमाड़ी IOA का पद नहीं लेंगे, जानिए चौटाला और कलमाड़ी पर कलह की कहानी

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 December 2016, 10:59 IST

सुरेश कलमाड़ी और अभय चौटाला को भारतीय ओलंपिक संघ का आजीवन अध्यक्ष बनाए जाने पर मचे घमासान के बीच कलमाड़ी के वकील ने साफ किया है कि उन्होंने पद को स्वीकार नहीं करने का फैसला किया है. 

सुरेश कलमाड़ी के वकील हितेश जैन ने कहा है, "कलमाड़ी ने इस पद को तब तक स्‍वीकार नहीं करने का फैसला लिया है जब तक कि उनका नाम भ्रष्‍टाचार के आरोपों से पाक साफ नहीं हो जाता." 

खेल मंत्रालय Vs ओलंपिक एसोसिएशन

खेल मंत्रालय ने इस मामले में आईओए को नोटिस जारी किया था. खेल मंत्री विजय गोयल ने कहा, "कलमाड़ी को हटाया जाए या वे इस्‍तीफा दें. कलमाड़ी, चौटाला के रहने तक खेल मंत्रालय आईओए से कोई रिश्‍ता नहीं रखेंगे."

हालांकि इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन ने कलमाड़ी और चौटाला की नियुक्ति का बचाव किया है. आईओए के संयुक्‍त सचिव आनंदेश्‍वर पांडे ने कहा, "संवैधानिक तौर पर यह वैध फैसला है. ये केवल मानद पद (ऑनररी पोस्ट) हैं. कलमाड़ी और चौटाला को कोई कार्यकारी अधिकार नहीं दिए जाएंगे."

खेल मंत्री विजय गोयल ने जहां एक ओर इस फैसले को नामंजूर किया है. वहीं पूर्व खेल मंत्री और कांग्रेस नेता अजय माकन ने फैसले को रद्द करने की मांग करते हुए कलमाड़ी पर हमला बोला था.

कलमाड़ी और चौटाला पर क्यों विवाद?

2010 में दिल्ली में हुए कॉमनवेल्थ खेलों में भ्रष्टाचार के आरोपी 72 साल के सुरेश कलमाड़ी कांग्रेस सांसद भी रहे हैं. कलमाड़ी ने 1996 से 2011 तक आईओए अध्‍यक्ष के रूप में काम किया है. 

2010 में कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स के ठेके देने में उन पर भ्रष्‍टाचार का आरोप लगा था. 2011 में उन्हें इस मामले में गिरफ्तार किया गया यही नहीं कलमाड़ी ने करीब 10 महीने जेल में काटे फिलहाल वह जमानत पर हैं. 

चौटाला पर आय से ज्यादा संपत्ति का केस

दूसरी ओर अभय चौटाला दिसंबर 2012 से फरवरी 2014 तक आईओए के अध्‍यक्ष रहे. अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक संघ ने भारत को इस आधार पर सस्‍पेंड कर दिया था कि इस अंतरराष्‍ट्रीय संस्‍था के नियम आपराधिक आरोप झेल रहे किसी शख्‍स को चुनाव लड़ने की इजाजत नहीं देते.

अभय चौटाला हरियाणा के बड़े राजनेता हैं. उनके पिता ओमप्रकाश चौटाला हरियाणा के मुख्यमंत्री रह चुके हैं. अभी चौटाला इंडियन नेशनल लोकदल से विधायक हैं. अपनी नियुक्ति पर सफाई देेते हुए अभय चौटाला ने कहा है कि हरियाणा में खेल के क्षेत्र में किए गए काम के लिए उन्हें यह पद मिला है. 

आईओए के 120 सदस्‍यों ने बहुमत से उन्‍हें वोट दिया था. अभय चौटाला पर आय से ज्यादा संपत्ति का मामला चल रहा है. इस मामले की जांच सीबीआई कर रही है. इसी साल नवंबर में उन्‍हें हरियाणा ओलंपिक संघ का अध्यक्ष चुना गया था.

First published: 29 December 2016, 10:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी