Home » खेल » Sushil Kumar Ready to Fight Against Narsingh Yadav For Olympics Ticket
 

रियो ओलंपिक: नरसिंह और सुशील के बीच मुकाबला, जो जीतेगा रियो जाएगा

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 May 2016, 19:21 IST

सितंबर, 2015 में लास वेगास में हुए वर्ल्ड कप चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीतकर रियो अोलंपिक का टिकट कटा चुके नरसिंह यादव की ओलंपिक में भागादीरी पक्की नहीं है.

ओलंपिक कोटा पाने के लिए नरसिंह को ओलंपिक में दो बार पदक जीतने वाले सुशील कुमार से इस महीने लड़ना होगा.

नरसिंह पिछले साल फ्रीस्टाइल के 74 किलोग्राम भार वर्ग में जीते थे. उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिले में रहने वाले नरसिंह ने 2010 कॉमनवेल्थ गेम्स में इसी भार वर्ग में स्वर्ण पदक जीता था.

बीजिंग ओलंपिक में कांस्य और लंदन ओलंपिक में रजत पदक जीतने वाले सुशील कुमार भी इसी भार वर्ग में खेलते हैं. वह चोट के चलते उस टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं ले सके थे.

आईपीएल: इन किफायती गेंदबाजों के खिलाफ रन बनाना बेहद मुश्किल

ओलंपिक में इस भार वर्ग में सुशील या नरसिंह में कोई एक ही भाग ले सकता है. इसी वजह से भारतीय कुश्ती संघ इसी महीने दोनों के बीच ट्रायल करा सकता है. दोनों के बीच मुकाबले से यह तय होगा कि इस वजन वर्ग में कौन भारतीय पहलवान रियो में देश का प्रतिनिधित्व करेगा.

नरसिंह के अलावा अब तक तीन पहलवान ओलंपिक में कोटा हासिल कर चुके हैं. इसमें 57 किलोग्राम में संदीप तोमर और योगेश्वर दत्त ने 65 किलोग्राम भार वर्ग में फ्री स्टाइल शैली में टिकट कटाया है.

इनके अलावा एक अन्य पहलवान हरदीप सिंह ने ग्रिको रोमन शैली में 98 किलोग्राम भार वर्ग में ओलंपिक टिकट हासिल किया है.

पढ़ें: सलमान, अभिनव के बाद सचिन बने ओलंपिक गुडविल एंबेसडर

पिछले साल एक इंटरव्यू में नरसिंह यादव ने कहा था, 'अब तक देखा गया है कि जिस पहलवान ने कोटा स्थान दिलवाया, उसे ही मौका दिया गया है. वैसे भी खिलाड़ी के मौजूदा फार्म को देखा जाता है न कि उसके पुराने रिकॉर्ड को. मैं चाहता हूं कि मुझे ओलंपिक में खेलने का मौका मिले लेकिन इस पर फैसला भारतीय कुश्ती संघ को करना है. मुझे उम्मीद है कि अगर मौका मिला तो मैं जरूर देश के लिए मेडल जीतने में कामयाब रहूंगा.'

हालांकि उस समय भारतीय महासंघ ने सुशील और नरसिंह के बीच ट्रायल करने का फैसला नहीं लिया था.

वहीं जार्जिया में एक महीने के कड़े अभ्यास के बाद सुशील कुमार ने कहा है कि वह इस महीने नरसिंह यादव के खिलाफ होने वाले बहुप्रतीक्षित ट्रायल के लिये पूरी तरह फिट और तैयार हैं.

यह पूछने पर कि नरसिंह ने कोटा हासिल किया है और अब फिर से रियो जाने के लिए ट्रायल देना होगा, क्या ये सही है? सुशील कुमार ने कहा, 'यह बात सही है कि नरसिंह ने कोटा हासिल किया, लेकिन पूरे विश्व में ऐसे ही होता है. यह देश का क्वालीफिकेशन होता है और उसके बाद उस देश को ओलंपिक के पहले जो भी पहलवान पदक जीतने की स्थिति में लगता, वैसा फैसला करता है. अभी अमेरिका ने भी ऐसा ही किया है.'

First published: 5 May 2016, 19:21 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी