Home » खेल » World Boxing Championship: Gaurav Bidhuri assures a medal for India to reach in semifinal.
 

वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप: गौरव बिधूड़ी ने सेमीफाइनल में पहुंचकर बनाया ये रिकॉर्ड

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 August 2017, 10:17 IST

भारत के युवा बॉक्सर गौरव बिधूड़ी ने एआईबीए विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में 56 किलोग्राम भार वर्ग के सेमीफाइनल में पहुंचकर मेडल पक्का कर लिया है. गौरव ने क्वार्टर फाइनल में ट्यूनीशिया के बिलेल महाम्दी को मात दी.

24 साल के गौरव वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप में पदक जीतने वाले भारत के चौथे खिलाड़ी होंगे. उनसे पहले ओलम्पिक पदक विजेता और अब पेशेवर मुक्केबाज बन चुके विजेंदर, विकास कृष्ण और शिव थापा ने भारत को विश्व चैंपियनशिप में पदक दिलाए हैं.

गैौरव विधूड़ी चैंपियनशिप में पदार्पण करते हुए पदक जीतने वाले दूसरे भारतीय हैं. उनसे पहले विकास कृष्ण ने वर्ल्ड चैंपियनशिप में पदार्पण करते हुए पदक जीता था. पीठ की समस्या से जूझ रहे गौरव मैच के दौरान विजेता की तरह लड़े और सर्वसम्मति से विजेता चुने गए.

मैच के बाद गौरव ने कहा, "यह अविश्वसनीय है. मैं पिछले 7-8 महीनों से भयानक पीठ दर्द से जूझ रहा था." उन्होंने कहा, "लेकिन कोई भी चीज मुझे रोक नहीं सकती, क्योंकि मैं यहां इतिहास रचने के लिए प्रतिबद्ध था. अब मैं अपने सपने के करीब हूं. मैंने अपने दिमाग को काबू में रखा और मैच पर ध्यान लगाए रखा. मैंने पहले दो राउंड जीते और फिर अपना ध्यान बढ़त बनाए रखने पर केंद्रित किया."

गौरव ने आगे कहा, "मेरे कोच और टीम काफी मददगार हैं. उन्होंने वो दर्द देखा है जिससे मैं गुजरा हूं, उन्होंने मेरी हर कदम पर मदद की है. मैं इस जीत को अपने पिता को समर्पित करता हूं."

गौरव अगले मैच में अमेरिका के ड्यूक रागन और अमेरिका के ही जियावेई झांग के बीच होने वाले चौथे राउंड के विजेता से भिड़ेंगे, अगर वह इस सेमीफाइनल मैच में हार भी जाते हैं तो भी वह कांस्य पदक के हकदार होंगे.

भारतीय मुक्केबाजी महासंघ (बीएफआई) के अध्यक्ष अजय सिंह ने एक बयान में कहा है, "भारतीय मुक्केबाजी के लिए यह अच्छी खबर है. मैं गौरव को बधाई देता हूं और अन्य मुक्केबाजों को शुभकामनाएं देता हूं कि वह आने वाले दिनों में अच्छा प्रदर्शन करें."

First published: 30 August 2017, 10:17 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी