Home » खेल » world boxing championship: Gaurav Bidhuri settles for bronze medal to defeat in semifinal.
 

भारत ने क्रिकेट में रचा इतिहास पर वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप में गंवाया मौका

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 September 2017, 11:20 IST

भारत के युवा मुक्केबाज गौरव बिधुड़ी गुरुवार को यहां खेली जा रही विश्व चैम्पियनशिप के पुरुषों के 56 किलोग्राम भारवर्ग के सेमीफाइनल में हार गए हैं.

गौरव को अमेरिका के ड्यूक रागान ने 5-0 से मात दी. इसी के साथ गौरव को चैम्पियनशिप में कांस्य से ही संतोष करना पड़ा है.  गौरव इस चैम्पियनशिप में इतिहास रचने के करीब आकर चूक गए. वह अगर जीत जाते तो इस चैम्पियनशिप के फाइनल में जगह बनाने वाले पहले भारतीय होते.

24 साल के गौरव इस चैम्पियनशिप में पहली बार उतरे थे, वह इस चैम्पियनशिप में पदक जीतने वाले चौथे भारतीय मुक्केबाज हैं. उनसे पहले विजेंदर सिंह, विकास कृष्णा और शिव थापा इस चैम्पियनशिप में पदक जीत चुके हैं. 

विजेंदर इस चैम्पियनशिप में पदक जीतने वाले पहले भारतीय मुक्केबाज थे. उन्होंने 2009 में पदक जीता था जबकि विकास ने 2011 और थापा ने 2015 में पदक जीते थे. 

अमेरिकी खिलाड़ी को हालांकि सभी रेफरियों ने सर्वसहमति से विजेता चुना लेकिन गौरव ने उनका अच्छा मुकाबला किया और रेफरियों द्वारा दिया गया स्कोर काफी करीबी था.  पांच में से चार रेफरियों ने 30-27 का स्कोर दिया तो वहीं एक रेफरी ने 30-26 का स्कोर दिया.

First published: 1 September 2017, 11:20 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी