Home » खेल » youth olympic games 2018 akash malik becomes indias first silver medallist in archery
 

गरीब किसान के बेटे ने रचा दिया इतिहास, देश को दिलाया सिल्वर मेडल

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 October 2018, 14:31 IST

आकाश मलिक युवा ओलंपिक खेलों की तीरंदाजी स्पर्धा में रजत पदक जीतने वाले पहले भारतीय बन गए और उनके पदक से साथ ही भारत ने इन खेलों से अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के साथ विदा ली. एक किसान के पुत्र 15 वर्षीय आकाश को फाइनल में अमेरिका के ट्रेंटन कोलेस ने 6-0 से हराया. भारत ने इन खेलों में तीन स्वर्ण, नौ रजत और एक कांस्य पदक जीता.



क्वालीफिकेशन के बाद पांचवीं वरीयता प्राप्त आकाश फाइनल में लय कायम नहीं रख सके. कोलेस ने सिर्फ दस और नौ में स्कोर करके आसानी से जीत दर्ज की.

तीन सेटों के मुकाबले में दोनों ने चार बार परफेक्ट 10 स्कोर किया लेकिन आकाश ने पहले और तीसरे सेट में दो बार सिर्फ छह स्कोर किया.

आकाश ने कहा ,‘ मैंने तेज हवाओं में अभ्यास किया था लेकिन यहां हवा बहुत तेज थी. कोलेस दमदार प्रतिद्वंद्वी था और मेरे पास कोई मौका नहीं था.’

इससे पहले अतुल वर्मा ने 2014 में नानजिंग में हुए खेलों में कांस्य पदक जीता था. आकाश ने छह साल पहले तीरंदाजी शुरू की जब शारीरिक ट्रेनर और तीरंदाजी कोच मनजीत मलिक ने उसे ट्रायल के दौरान चुना. आकाश के पिता नरेंदर मलिक गेहूं और कपास की खेती करते हैं लेकिन वह कभी नहीं चाहते थे कि उनका बेटा किसान बने.

First published: 20 October 2018, 14:31 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी