Home » राज्य » 2 year jail term for water theft in gujarat
 

पानी चोरी करने पर अब जाना पड़ेगा दो साल जेल, चुकाना होगा 2 लाख का भारी जुर्माना

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 July 2019, 12:12 IST

गुजरात विधानसभा में शुक्रवार को पानी चोरी को अपराध की श्रेणी में रखने वाले बिल को पारित कर दिया गया है. इस बिल के तहत पानी चोरी करने वालों को दो वर्ष जेल की सजा होगी. इस दौरान इस बिल को लेकर कांग्रेस के विधायकों ने वॉकआउट किया. कांग्रेसी विधायकों का आरोप है कि इस बिल को पारित कर बीजेपी सरकार बिना किसी वजह के किसानों को अपना निशाना बना रही है.

शुक्रवार को गुजरात विधानसभा में गुजरात सिंचाई और जल निकासी (संशोधन) बिल 2019 और गुजरात घरेलू जल आपूर्ति (संरक्षण) बिल 2019 को बहुमत से पारित किया गया. वहीं, कांग्रेस विधायकों ने वॉकआउट कर लिया था.

जेल के साथ-साथ लगेगा जुर्माना

इस बिल के तहत अगर कोई भी व्यक्ति पानी चोरी करने का दोषी पाया गया, तो उसे जेल के साथ-साथ दो लाख रुपए का जुर्माना लग सकता है. इस बिल के तर्ज पर बेंगलुरु वॉटर सप्लाई और सीवरेज समेत अन्य कानून (संशोधन) अधिनियम 2009 हैं, इसके तहत पानी चोरी करने का दोषी पाया गया, तो अधिकतम तीन साल जेल का प्रावधान है.

सरकार पर विपक्ष ने साधा निशाना
राज्य विद्युत मंत्री सौरभ पटेल, जिन्होंने सिंचाई और जल निकासी संशोधन बिल पेश किया, वह कहते हैं कि इस कदम का मुख्य उद्देश्य बड़ी संख्या में पानी चोरी की घटनाओं की जांच करना है. उधर, नेता विपक्ष परेश धनानी ने कहा, 'हमने दोनों बिलों का विरोध किया. पान एक आधारभूत अधिकार है और सरकार सिंचाई और पीने की जरूरत के लिए पर्याप्त पानी उपलब्ध करा पाने में विफल रही है.'

मोदी सरकार का बड़ा कबूलनामा, किसानों की आय 2022 तक नहीं होगी दोगुनी

First published: 27 July 2019, 12:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी