Home » राज्य » Cow vigilantes attacked railway staff in bhuvneshwar
 

गोरक्षकों ने ट्रेन रोककर की रेलवे स्टाफ की धुनाई

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 May 2017, 15:23 IST

भुवनेश्नर रेलवे स्टेशन पर एक ट्रेन रोकर कम से कम 20 गोरक्षकों ने रेलवे के कर्मचारियों की धुनाई कर दी. गोरक्षकों ने आरोप लगाया कि ट्रेन में मौजूद गायों को तस्करी करके ले जाया जा रहा है. जबकि रेलवे स्टाफ का दावा है कि कुल 20 दुधारू गायों को कानूनी तरीक़े से ले जाया जा रहा था.

इन गायों की ख़रीद-फ़रोख़्त नोएडा स्थित एक कृषि कंपनी ने की थी. इन्हें तमिलनाडु के सलेम स्थित फार्म से ख़रीदा गया था. इसके बाद सभी गायों को ट्रेन से मेघालय ले जाया जा रहा था.

बुधवार की रात जब ट्रेन भुवनेश्वर रेलवे स्टेशन पहुंची, तो कम से कम 25 गोरक्षकों ने हमला कर दिया. ख़ुद को बजरंग दल का सदस्य बताते हुए सभी गोरक्षक ट्रेन के अंदर घुस गए. इन गायों को ले जा रहे केयरटेकर उमेश सिंह ने कहा, "उन्होंने बिना कोई बात किए मुझे मारना शुरू कर दिया. उन्होंने एक यात्री और रेलवे के दो स्टाफ को भी नहीं छोड़ा."

मेघालय सरकार ने भी पुष्टि की है कि सभी गायों को सरकारी आदेश के बाद लाया जा रहा था. राज्य स्थित एनिमल हसबैंड्री के निदेशक डॉक्टर बी रिजल ने कहा, "मुख्यमंत्री ने एक डेयरी परियोजना शुरू की है. यह प्रोजेक्ट किसानों और दुधारू गायों की मदद से आगे बढ़ेगा. तीन कंपनियों को भी ई टेंडर के माध्यम से इस परियोजना में शामिल किया गया है. वर्टेक्स एग्रो इस क्षेत्र में काम करने वाली बड़ी कंपनी है. यही कंपनी 20 दुधारू गायों को सलेम स्थित फार्म से ख़रीदकर मेघालय भेज रही थी."

गोरक्षकों के इस हंगामे के बाद गायों को गोशाला में भेज दिया गया है. रेलवे पुलिस ने गोरक्षकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर दी है. अभी तक इस केस में कोई गिरफ़्तारी नहीं हुई है.

First published: 27 May 2017, 15:23 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी