Home » राज्य » Darjeeling: Over 10,000 tourists stranded as 'bandh' called by Gorkha Janmukti Morcha continues till 6 pm, against yesterday's lathicharge.
 

दार्जिलिंग में GJM का बंद, दस हज़ार पर्यटक फंसे

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 June 2017, 16:22 IST

गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग में 12 घंटे के बंद की घोषणा की है. जीजेएम के बंद के कारण तकरीबन 10,000 से ज्यादा पर्यटक वहां फंस गए हैं.

दरअसल गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के समर्थक दार्जिलिंग के स्कूलों में बांग्‍ला भाषा की पढ़ाई अनिवार्य किए जाने के खिलाफ विरोध कर रहे हैं. जीजेएम के इस बंद के दौरान ज्यादातर दुकान, रेस्टोरेंट और बाजार बंद रहे. बंद की वजह से वाहन भी सड़कों पर दिखाई नहीं दिए.

कानून व्यवस्था और शांति बनाए रखने के लिए क्षेत्र में पुलिस और सेना की तैनाती हुई है. दार्जिलिंग में फंसे एक पर्यटक ने बताया, "हमने कभी भी इस तरह की स्थिति की उम्मीद नहीं की थी. हमें यहां से निकलने के लिए कोई भी वाहन नहीं मिल रहा, जिससे हम काफी परेशान हैं." 

पश्चिम बंगाल के पर्यटन मंत्री गौतम देब का कहना है, "हमने कई जगहों पर शिविरों में मदद शुरू की है और दार्जिलिंग में हालात जल्द ही सामान्य होने की उम्मीद है." दार्जिलिंग से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद एस अहलूवालिया ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से अपील की है कि वे अपना बदला लेने वाला रवैया बदल दें और इस क्षेत्र की शांति को भंग ना करें. 

गौरतलब है कि अलग गोरखालैंड की मांग कर रहे जीजेएम के समर्थकों ने गुरुवार को सरकारी प्रतिष्ठानों को निशाना बनाया और कई जगह सरकारी संपत्ति को आग के हवाले कर दिया. इस दौरान पुलिस पर जमकर पथराव हुआ. हिंसक विरोध प्रदर्शन के दौरान 4 पुलिसकर्मी जख्मी हो गए, जिसमें एक की हालत नाजुक है.

First published: 9 June 2017, 16:22 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी