Home » राज्य » Fake call center operate in mumbai, They demand nude girl picture for lone
 

मुंबई में फर्जी कॉल सेंटर का खुलासा, लोन देने के बदले...

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 June 2017, 10:44 IST

मुंबई पुलिस ने कर्ज दिलाने वाले एक फर्जी कॉल सेंटर का भंडाफोड़ किया है. इस कंपनी के मेंबर अमेरिकी नागरिकों को लोन दिलाने के नाम पर उन्हें ठगने का काम करते थे और उतना ही नहीं लोन दिलाने के बदले में ये लोग ग्राहकों से न्यूड फोटो मांगते थे.

मुंबई के अंबरनाथ इलाके के इंडस्ट्रियल एरिया में रमेश इंटरप्राइजेज के नाम से यह कॉल सेंटर चलाया जा रहा था. क्राइम ब्रांच के अनुसार, गुरुवार रात उन्हें इस फर्जी कॉल सेंटर की सूचना मिली. जिसके बाद टीम ने जाल बिछाया और देर रात कथित कॉल सेंटर पर छापा मारा.

छापेमारी के दौरान खुलासा हुआ कि ठगी के यह धंधेबाज लोन देने के नाम पर अमेरिकी नागरिकों को लाखों डॉलर का चूना लगा रहे थे. इस मामले में क्राइम ब्रांच ने बताया कि यह लोग सबसे पहले अमेरिकी नागरिकों का डाटा इकट्ठा करते थे, फिर उन्हें हजारों डॉलर का लोन दिलाने का झांसा देते थे.

यह लोग कमीशन और प्रॉसेसिंग फीस के नाम पर हजारों डॉलर वसूल लेते थे. रकम वसूलने के बाद भी लोन पास नहीं होता था. दस्तावेजों की कमी का हवाला देते हुए कई बार यह लोग विदेशी लड़कियों से लोन के बदले न्यूड तस्वीरों और वीडियो की भी डिमांड करते थे.

पुलिस ने फर्जी कॉल सेंटर में काम करने वाले 80 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया है. क्राइम ब्रांच ने मौके से कंप्यूटर, हार्ड डिस्क, पेन ड्राइव, सर्वर आदि से जुड़ी दूसरी चीजें बरामद की हैं. फर्जी कॉल सेंटर में आपत्तिजनक दस्तावेज, न्यूड तस्वीरें और तमाम अश्लील वीडियो भी मिले हैं.

इसके साथ ही पुलिस को छानबीन में यह भी पता चला कि यह लोग ठगी के लिए कई बार वीओआईपी कॉलिंग सिस्टम का इस्तेमाल करते थे, जो भारत में पूरी तरह से गैरकानूनी है. क्राइम ब्रांच के मुताबिक, कॉल सेंटर का मालिक अपने उन कर्मचारियों को ज्यादा इंसेटिव दिया करता था, जो ज्यादा से ज्यादा लोगों को चूना लगाने में कामयाब हो जाते थे.

First published: 10 June 2017, 10:44 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी