Home » राज्य » Farmers nude protest in outside of Pm house.
 

किसानों ने पीएमओ के बाहर कपड़े उतारकर किया विरोध प्रदर्शन

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 April 2017, 15:10 IST
(इंडियन एक्सप्रेस)

दिल्ली के जतंर मंतर पर अपनी मांगों को लेकर तमिलनाडु के किसान लंबे समय से धरना प्रदर्शन कर रहे हैं. तमिलनाडु के किसानों का ये प्रदर्शन आज नॉर्थ ब्लॉक तक पहुंच गया.

आज सुबह जंतर-मंतर पर प्रदर्शन कर रहे किसानों का सात सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल पीएम से मुलाकात करने आया था. सूखे और कर्ज से परेशान ये किसान जब पीएम मोदी से मुलाकात नहीं कर पाए, तो अपना विरोध जताने के लिए उन्होंने ये अनोखा तरीका चुना.

पीएम ऑफिस के बाहर जब दिल्ली पुलिस की वैन उन्हें वापस ले जा रही थी तब अचानक पुलिस की वैन से एक किसान उतर गया.थोड़ी देर में उस किसान ने अपने कपड़े उतारकर अपनी मांगों को लेकर चिल्लाना शुरु कर दिया.

उसके थोड़ी देर बार दो और किसान पुलिस की वैन से उतर गए और उन्होंने भी कपड़े उतारकर विरोध प्रदर्शन किया. इन किसानों की मांग है कि सूखा पड़ने से जो उन्हें नुकसान हुआ है, उसकी भरपाई चालीस हजार करोड़ रुपए का पैकेज देकर की जाए. इसके अलावा इन किसानों की ये भी मांग है राज्य में पानी की किल्लत को दूर करने के ठोस उपाय किए जाएं.

जंतर-मंतर पर जमा हैं 100 किसान

पिछले कई हफ्तों से दिल्ली के जंतर-मंतर पर तमिलनाडु से आए सौ किसान धरना दे रहे हैं. ये किसान अपने साथ उन नर कंकालों को भी लाए हैं, जिन्होंने खेती में घाटा होने पर आत्महत्या कर ली थी. चूहों को खाकर भी वो अपना विरोध जता रहे हैं.

इन किसानों से शुक्रवार को कांग्रेस उपाध्याक्ष राहुल गांधी भी मिले. राहुल गांधी ने किसानों से बातचीत के बाद कहा,  "पीएम इस देश के अमीर लोगों का कर्ज माफ कर देते हैं, तो इस देश को बनाने वाले लोगों का, किसानों का कर्ज क्यों नहीं माफ करते? यहां ये लोग कितने दिनों से बैठे हैं, इनकी आवाज न हिंदुस्तान की सरकार और न पीएम सुन रहे हैं. पिछले तीन सालों में 1 लाख 40 हजार करोड़ रुपए हिंदुस्तान के 50 बड़े कारोबारियों के माफ किए गए हैं."

तमिलनाडु के प्रदर्शनकारी किसान चाहते हैं कि पीएम मोदी इस मामले में दखल दें और उनके लिए कर्ज माफ़ी की घोषणा की जाए. 
First published: 10 April 2017, 15:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी