Home » राज्य » Former Tamil Nadu chief secretary on IT raid: I am being targeted They found Rs 1,12,320 and 20-25 kg gold in my house
 

IT छापे पर बोले राममोहन राव: 'अम्मा होतीं' तो ऐसा नहीं होता, मुख्य सचिव था और हूं

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 December 2016, 11:57 IST
(एएनआई)

तमिलनाडु के पूर्व मुख्य सचिव पी राममोहन राव ने अपने घर पर पिछले हफ्ते पड़े आयकर छापे के बाद पहली बार चुप्पी तोड़ी है. राममोहन राव ने कहा है कि उन्हें निशाना बनाया जा रहा है. इसके साथ ही राममोहन राव ने छापे के बाद अपने घर में मिले कैश और गहनों के बारे में जानकारी दी है. 

राममोहन राव ने मीडिया से बात करते हुए आयकर विभाग के पंचनामे की कॉपी भी सौंपी, जिसमें यह बताया गया है कि उनके घर पर पड़े छापे में क्या बरामदगी हुई है. राममोहन राव ने यह भी कहा कि उन्हें इस दौरान नजरबंद रखा गया. 

ममता और राहुल का जताया शुक्रिया

इसके अलावा पूर्व मुख्य सचिव ने कहा कि वह पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को उनके मुद्दे को उठाने के लिए धन्यवाद देते हैं. इसके अलावा राममोहन राव ने खनन कारोबारी शेखर रेड्डी से संबंधों की बात को भी खारिज किया है.

आईटी विभाग के पंचनामे की कॉपी सौंपते हुए राममोहन राव ने कहा, "मुझे घर में नजरबंद रखा गया. यह मुख्य सचिव के दफ्तर पर असंवैधानिक तरीके से किया गया हमला है. मैं अब भी तमिलनाडु का मुख्य सचिव हूं." 

5 बड़ी बातें

1. सीआरपीएफ के जवान मेरे घर में घुसे, उन्होंने मुझे सर्च वारंट दिखाया, जिस पर मेरा नाम नहीं था, उन्हें कुछ नहीं मिला. न तो कोई गलत दस्तावेज, न कोई गुप्त चैंबर. उनके पास मेरे बेटे के खिलाफ सर्च वारंट था, न कि मेरे खिलाफ. बंदूक की नोंक पर सीआरपीएफ के लोग मेरे और मेरे बेटे के घर में घुसे. उन्होंने ऐसा क्यों किया?

2. मैं तमिलनाडु का मुख्य सचिव था और हूं. मुझे ट्रांसफर ऑर्डर की कॉफी नहीं मिली है. राज्य सरकार कहां है? केंद्र सरकार और सीआरपीएफ का चीफ सेक्रेटरी के चैंबर में घुसने का क्या औचित्य है? क्या उन्होंने मुख्यमंत्री से इजाजत ली थी. अगर उन्हें मेरे घर पर सर्च करनी थी, तो पहले मेरा ट्रांसफर करना था. एक सीएम को मुख्य सचिव का तबादला करने में कितना वक्त लगता है?

3. अगर मैडम (जयललिता) आज होंती तो तमिलनाडु के साथ क्या ऐसा हो पाता? लोगों की सुरक्षा का क्या? मुझे निशाना बनाया गया. मुझे डर है कि मेरी जान को खतरा है.  

4. मेरे घर से उन्हें 1 लाख 12 हजार 320 रुपये मिले. इसके अलावा मेरी पत्नी और बेटी के चांदी और सोने के गहनों समेत 20 से 25 किलो सोना मिला. मैं जनता की अदालत में जाऊंगा.

5. मेरा शेखर रेड्डी से कोई संबंध नहीं है. मेरा उनसे कोई लेना-देना नहीं है. उनका सरकार के कामकाज से कोई ताल्लुक नहीं है.

First published: 27 December 2016, 11:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी