Home » राज्य » Heavy rains lash Mumbai Flights, local trains delayed city braces for high tide at 4.30pm
 

पानी-पानी हुआ मुंबई, महाराष्ट्र में बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 August 2017, 16:55 IST

महाराष्ट्र के मुंबई, ठाणे, पालघर, रायगढ़ और अन्य इलाके मंगलवार को लगातार चौथे दिन मूसलाधार बारिश की चपेट में रहे, जिससे सामान्य जनजीवन बुरी तरह अस्त-व्यस्त रहा. मुंबई में लोकल ट्रेन और बस सेवाएं भी बुरी तरह से प्रभावित रहीं. 

मुंबई के कई राजमार्गो, मुख्य सड़कों, गलियों, आवासीय परिसरों, रेलवे स्टेशनों और यहां तक कि मुंबई हवाई अड्डे पर भी तीन से चार फीट तक पानी भर गया. हालांकि, शहर के विभिन्न हिस्सों में बाढ़ जैसी स्थिति, जलभराव और पेड़ों के गिरने की घटनाओं को छोड़कर अब तक किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है.

ठाणे जिले में बारिश के कारण भूस्खलन होने से मंगलवार को नागपुर-मुंबई दुरंतो एक्सप्रेस के 10 डिब्बे पटरी से उतर गए, हालांकि इस दुर्घटना में कोई हताहत नहीं हुआ. लगातार हो रही बारिश के कारण मंगलवार को गणेशोत्सव के पांचवें दिन विसर्जन समारोहों के भी प्रभावित होने का अनुमान है.

मध्य रेलवे मेनलाइन, हार्बर लाइन, पश्चिमी रेलवे और कोंकण रेलवे के कई स्थानों पर रेल पटरियों पर पानी भर गया, जिससे उपनगरीय लोकल ट्रेनों की सेवाएं प्रभावित रहीं.

लाखों यात्री रेलगाड़ियों, रेलवे स्टेशनों या बस स्टॉप पर लोग फंसे रहे. कई लोग अपने गंतव्यों तक पहुंचने में नाकाम रहे और उन्हें मजबूरन अपने घर लौटना पड़ा. दहीसर, बोरीवली, कांदीवली, मलाड, अंधेरी, जोगेश्वरी, सांताक्रूज, बांद्रा, माटुंगा, दादर, एल्फिंस्टन, मुंबई सेंट्रल, माझगांव, लालबाग, परेल, सायन, वडाला, भांडुप और अन्य क्षेत्रों से जलभराव की सूचना है.

छत्रपति शिवाजी महाराज इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर बारिश से संचालन प्रभावित हुआ. कम दृश्यता के कारण कई उड़ानों के परिचालन में 15-20 मिनटों की देरी हुई. पांच हवाई जहाज हवा में ही मंडराते रही, क्योंकि उन्हें लैंडिंग की अनुमति नहीं दी गई, जबकि दो अन्य हवाई जहाजों का मार्ग बदल दिया गया.

मुंबई हवाई अड्डे से अपनी फ्लाइट लेने के लिए यहां पहुंचने वाले घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय यात्रियों को राजमार्गो और मुख्य सड़कों पर भारी यातायात के कारण समय पर पहुंचने में बड़ी समस्याएं आईं. भारत मौसम विभाग, मुंबई के प्रमुख केएस होसलीकर ने कहा कि सुबह 8.30 बजे से तीन घंटे में मुंबई उपनगरीय इलाकों में 86 मिमी बारिश हुई, जबकि कोलाबा में 16 मिमी बारिश दर्ज की गई.

होसलीकर ने मीडिया को बताया, "यह 26/7 (2005) जैसी स्थिति नहीं है, क्योंकि मुंबई के ऊपर बादलों की सतह मोटी नहीं है. हालांकि हमने महाराष्ट्र सरकार और बृहन्मुंबई नगर निगम की आपदा राहत इकाइयों को मौसम संबंधी चेतावनी जारी की है."

उन्होंने कहा कि आईएमडी ने महाराष्ट्र में विशेष रूप से उत्तरी कोंकण, मुंबई और अन्य भागों के तटीय इलाकों में अगले 24 घंटों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है.

First published: 29 August 2017, 16:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी