Home » राज्य » jammu kashmir: Stone Pelting attack on school bus in Shopian, two student suffers head injury
 

जम्मू कश्मीर में पत्थरबाजों ने स्कूल बस पर किया हमला, कई छात्र घायल

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 May 2018, 16:45 IST

जम्मू-कश्मीर में मानवता को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है. घाटी में सक्रिय पत्थरबाजों ने कायरता दिखाते हुए बुधवार को स्कूली बच्चों से भरी बस को अपना निशाना बनाया है. पत्थरबाजों ने स्कूल बस पर पत्थरों से हमला कर दिया.

इसमें दो छात्र घायल हो गए हैं. यह घटना शोपियां के जावूरा क्षेत्र की है. घायल छात्रों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है. पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. वहीं जम्मू कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती ने इस घटना की निंदा की है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, शोपियां के एसएसपी शैलेंद्र कुमार मिश्रा ने जानकारी देते हुए कहा है कि 'शरारती तत्वों' ने जावूरा गांव के पास रैनबो इंटरनेशनल स्कूल के बच्चों से भरी पर पत्थरों से हमाल कर दिया. इसमें दो छात्र घायल हो गए हैं.

घटना के बाद दोनों छात्रों का अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है. इसमें से एक छात्र रेहान गोरसाई को गंभीर चोटें लगी हैं. जिसके बाद रेहान को श्रीनगर के लिए रेफर कर दिया है. उन्होंने कहा कि घटना पर संज्ञान लेते हुए पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है.  पुलिस मामले की जांच कर रही है.

वहीं जम्मू कश्मीर के पुलिस महानिदेशक एसपी वैद्य ने ने इस घटना को पागलपन बताते हुए कहा कि रेहान गोरसाई के सिर में चोट आई है. उसको विशेष इलाज के लिए श्रीनगर के शेर-ए-कश्मीर इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस में भर्ती कराया गया है.

उन्होंने कहा कि पत्थरबाज अब स्कूली बच्चों को भी निशाना बना रहे हैं. जो एक अजीब तरह का पागलपन है. ऐसे लोगों को छोड़ा नहीं जाएगा. उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

 

महबूबा मुफ्ती ने जताया गुस्सा

सीएम महबूबा मुफ्ती ने इस घटना की निंदा करते हुए कहा कि शोपियां में स्कूली बच्चों की बस पर हुए हमले के बारे में जानकार हैरान हूं और गुस्सा भी आ रहा है. ऐसे कुकृत्व करने वाले अपराधियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी. 

वहीं पूर्व सीएम विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर इस घटना की निंदा करते हुए कहा कि इस घटना क कड़ी से कड़ी निंदा की जानी चाहिए. कैसे स्कूली बस या पर्यटकों को पत्थरों से निशाना बनाया जा सकता है.

उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों को अच्छे व्यवहार के लिए माफ किया गया था . लेकिन इनमें शामिल कुछ गुंडे इन अवसरों को पत्थरबाजी करने के रूप में भुना रहे हैं.

First published: 2 May 2018, 16:44 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी