Home » राज्य » Jharkhand: person beaten to death, more than 21 mob lynching cases in 3 years
 

झारखंड : व्यक्ति की पीट पीटकर हत्या, 3 साल में 21 से ज्यादा मॉब लिंचिंग के मामले

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 September 2019, 10:16 IST

झारखंड के खूंटी जिले में रविवार को भीड़ ने एक व्यक्ति को पीट पीटकर मार डाला. जबकि दो अन्य को घायल कर दिया. पुलिस के अनुसार भीड़ ने तीन लोगों पर प्रतिबंधित मांस बेचने का आरोप लगाया है. पुलिस ने कहा जालतांद सुआरी गांव में भीड़ द्वारा सुबह करीब 10 बजे हमला किया गया, जब ग्रामीणों ने उन्हें कथित तौर पर एक पशु शव से मांस निकालते हुए देखा. इन तीन ग्रामीणों की पहचान कलंतुस बारला, फिलिप होरो और फागू कच्छप के रूप में की गई है. एक रिपोर्ट के अनुसार इन लोगों को प्रतिबंधित मांस बेचते ग्रामीणों ने देखा और उन्हें पीटना शुरू कर दिया.

हालांकि, सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और उन्हें अस्पताल पहुंचाया. बारला को गंभीर चोटें आईं और अस्पताल पहुंचने से पहले उनकी मृत्यु हो गई. अन्य दो की हालत स्थिर बताई जा रही है. बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार पुलिस ने इस मामले में क़रीब 6 लोगों को हिरासत में लिया है. इनमें से कुछ बजरंग दल के कार्यकर्ता बताए जा रहे हैं. इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार डीआईजी ने कहा कि इस मामले की जांच चल रही है. अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है. पूछताछ के लिए कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया है.

इस साल अप्रैल में गुमला जिले के झुरमो गांव में कथित रूप से एक मृत बैल को ले जाने के बाद एक आदिवासी क्रिश्चियन प्रकाश लाकड़ा की भीड़ द्वारा हत्या कर दी गई थी. सितंबर में ही राज्य भर में कम से कम तीन इस तरह की घटनाएं सामने आई हैं. 11 सितंबर को साहिबगंज जिले में एक 70 वर्षीय व्यक्ति की बच्चा चोर होने के संदेह में पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी.

पिछले तीन वर्षों में राज्य भर में भीड़ की हिंसा में कम से कम 21 लोग मारे गए हैं. इनमें जानवरों के वध, और बच्चा चोरी की अफवाह फैलाने के आरोप शामिल है. इसके अलावा जनवरी 2017 से झारखंड में जादू टोना करने के संदेह में 90 से अधिक लोग मारे गए हैं.

सुरक्षा बलों को मिली बड़ी कामयाबी, एनकाउंटर में मार गिराए पांच नक्सली

First published: 23 September 2019, 10:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी