Home » राज्य » Kannur: highest scorer in plus one exam commit suicide
 

जानिए क्यों बोर्ड एग्जाम में फेल नहीं टॉप करना बना ख़ुदकुशी की वजह

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 May 2017, 17:38 IST
खुदकुशी करने वाली टॉपर रफ़सीना/ सोशल मीडिया

बोर्ड एग्जाम में 96 फ़ीसदी अंक हासिल करने वाली एक स्टूडेंट रफ़सीना ने केरल के कन्नूर में ख़ुदकुशी कर ली है. बुधवार की शाम 4:45 बजे वो अपने घर के भीतर फांसी के फंदे पर लटकती हुई मिलीं. शुरुआती जांच में पता चला है कि मीडिया में उनकी सफ़लता से जुड़ी कवरेज के दौरान उनकी ग़रीबी सार्वजनिक हो गई थी, जिसके बाद उन्होंने ख़ुदकुशी कर ली.

रफ़सीना कन्नूर के गांव मलूर की रहने वाली थीं. वो शिवपुरम हायर सेकेंड्री स्कूल की छात्रा थीं. हायर सेकेंडरी स्कूल एग्जामिनेशन में उन्होंने 1200 में से 1180 अंक हासिल किए थे. तभी से मीडिया उनकी इस सफ़लता की कहानी पाठकों/दर्शकों तक पहुंचा रहा था.

ग़रीब होने के बावजूद रफ़सीना की शानदार कामयाबी पर मीडिया लगातार कवरेज कर रहा था. कन्नूर के सांसद और कुछ संस्थाओं ने आगे की पढ़ाई के लिए स्कॉलरशिप ऑफर किया था. कुछ नेता रफ़सीना से मिलने के लिए उनके घर पहुंच गए थे. इसके बाद से वो अपमानित महसूस कर रही थीं. उन्होंने अपने क्लासमेट्स से भी अपनी ग़रीबी के बारे में नहीं बताया था.

अंग्रेज़ी अख़बार डेक्कन क्रॉनिकल के मुताबिक मीडिया रफ़सीना के घर से एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है. इस केस की जांच में जुटी पुलिस ने कहा है कि वो मीडिया रिपोर्ट्स की वजह से गहरे अवसाद में थीं. मीडिया उनकी सफलता से जुड़ी तमाम कहानियां बता रहा था. बार-बार इस पहलू पर ज़ोर दिया जा रहा था कि ग़रीब होने के बावजूद रफ़सीना ने इतना शानदार प्रदर्शन किया.

रफसीना मलूर में अपनी मां रहमत के साथ एक कमरे के मकान में रहती थीं. उनकी मां मज़दूरी करती हैं. बड़ी बहन मनज़ीना तिरुवनंतपुरम में पढ़ रही हैं और भाई महरूफ बेंगलुरु में काम करता है.

First published: 20 May 2017, 17:38 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी