Home » राज्य » Karnataka Assembly Elections Election Commission takes Action and seized 125 crore cash and liquor
 

कर्नाटक चुनाव में इलेक्शन कमीशन की सख्ती: करोड़ों की नकदी और शराब जब्त

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 May 2018, 12:00 IST

चुनाव के दौरान नकदी और शराब बांटने का सिलसिला थमता नजर नहीं आ रहा है. कर्नाटक चुनाव में भी उम्मीदवार नकदी और शराब के जरिए वोट हासिल कर विधानसभा पहुंचने का सपना देख रहे हैं. लेकिन चुनाव आयोग की सख्ती के चलते उनके मंसूबों पर पानी फिर रहा है.

चुनाव आयोग की निगरानी टीम ने कर्नाटक से अब तक 125 करोड़ रुपये मूल्य की संदिग्ध नकदी, जेवरात, शराब आदि बरामद किए हैं. चुनाव आयोग के आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, अब तक कर्नाटक में 75.94 करोड़ रुपये की नकदी, 23.98 करोड़ रुपये की पांच लाख लीटर से ज्यादा शराब, 43.25 करोड़ रुपये की गोल्ड जूलरी और 19.21 करोड़ रुपये के अन्य सामान बरामद किए हैं.

बता दें कि अन्य सामान में प्रेशर कुकर, साड़ी, सिलाई मशीन, गुटखा, लैपटॉप और गाड़ियां शामिल हैं. आयोग के एक अधिकारी के मुताबिक अब तक कुल 162.79 करोड़ रुपये की जब्ती हुई है. वहीं इसमें से 37.02 करोड़ रुपये की नकदी जांच में वैध पाए जाने के बाद वापस कर दी गई है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार, जब्त सामान में करीब 40 लाख रुपये के नशीले पदार्थ भी शामिल है. यह सभी जब्ती कर्नाटक में चुनाव की घोषणा की तारीख से लेकर अब तक की गई है. गौरतलब है कि राज्य में 12 मई को विधानसभा चुनाव होने हैं और नतीजे 15 मई को आएंगे. जिसके मद्देनजर चुनाव आयोग काफी सख्त कदम उठा रहा है. इसके लिए चुनाव आयोग की टीम ने जगह-जगह नकदी, सामान की आवाजाही की जांच के लिए चेक पोस्ट बनाए हुए है.

चुनाव आयोग राज्य में किसी भी कीमत पर नकदी की भारी आवाजाही पर अंकुश लगाने की कोशिश कर रहा है. जिससे कर्नाटक विधानसभा चुनाव में वोटरों को किसी तरह से खरीदने या लुभाने की कोशिश न हो सके. बता दें कि चुनाव आयोग उन लोगों के खिलाफ सख्ती कर रहा है जो अपनी गाड़ी में 50,000 रुपये से ज्यादा की नकदी या सामान ले जा रहे हैं.

यदि कोई व्यक्ति इस तरह से सामान ले जाता है तो चुनाव आयोग की टीम पहले उसका वैरिफिकेशन करती है. जब सामान के पूरी तरह से वैध होने की जानकारी मिलती है उसी के बाद ऐसे सामान को छोड़ा जाता है. इस काम में अर्द्धसैनिक बल के जवान चुनाव आयोग की टीम की मदद कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें- इस जगह है ऐसे सिक्कों का चलन जिन्हें चोरी नहीं किया जा सकता, हैरान कर देने वाली है वजह

First published: 8 May 2018, 11:52 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी