Home » राज्य » karnataka cm siddaramaiah replied on bjp president statement by tweet, Karnataka Vidhansabha, Karnataka election 2018
 

जानिए किस राज्य के मुख्यमंत्री ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को कह दिया 'बुद्धिहीन'

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 January 2018, 16:57 IST

 चुनाव की तारीखें नजदीक आते ही नेताओं के बोल बिगड़ने लगते हैं. अब कर्नाटक विधानसभा चुनाव को लेकर नेताओं के बीच घमासान शुरु हो गया है. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की ओर से किए गए हमले के बाद कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने मोर्चा संभाला लिया है.

सीएम रमैया ने बीजेपी अध्यक्ष शाह को बोला बुद्धिहीन

कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने बीजेपी अध्यक्ष को 'बुद्धिहीन' और 'एक्स जेल बर्ड' कहकर बयानवाजी को हवा दे दी. इससे पहले गुरुवार को एक रैली के दौरान अमित शाह ने सिद्धारमैया पर जोरदार हमला किया था. शाह कहा कि, 'सिद्धारमैया की सरकार भ्रष्टाचार की सभी सीमाएं पार कर चुकी है. कर्नाटक में भ्रष्टाचार और सिद्धारमैया एक दूसरे के पर्याय बन चुके हैं. सिद्धारमैया का मतलब भ्रष्टाचार और भ्रष्टाचार का मतलब सिद्धारमैया.'

ये भी पढ़ें- मिलिए टीम जेटली से, जो कर रही है मोदी के सपनो का बजट तैयार

सीएम सिद्धरमैया ने किया पलटवार

दूसरी ओर से सीएम सिद्धारमैया ने भी सवाल दाग दिया. सीएम सिद्धारमैया ने कहा कि, 'ऐसा लगता है कि अमित शाह के पास दिमाग नहीं है, वह बुद्धिहीन हैं'. इसके बाद सिद्धारमैया ने ट्विटर पर लिखा, 'कहते हैं कि एक एक्स जेल ने एक दूसरे एक्स जेल बर्ड को हमारे कर्नाटक के लिए सीएम पद का उम्मीदवार बनाया है.' सीएम सिद्धरमैया ने कहा कि जो लोग उनके ऊपर आरोप लगा रहे हैं उनको सबूतों के साथ आना चाहिए.

सीएम सिद्धारमैया को येदुरप्पा ने ऐसे दिया जवाब

सिद्धारमैया के इस ट्वीट के बाद बीएस येदुरप्पा भी बयानवाजी के मैदान में कूद पड़े. बीएस येदुरप्पा ने भी ट्वीट का जवाब ट्वीट से दिया. उन्होंने कहा कि, तो एक सीएम जिसने लोकायुक्त को खत्म किया, एसीबी का दुरुपयोग किया और खुद को भ्रष्टाचार के दर्जनों मामले में खुद क्लीनचिट दे दी. वहीं येदुरप्पा ने ये भी याद दिलाया कि उन्हे तो सभी मामलों से क्लीनचिट मिल गई है.

सोहराबुद्दीन एनकाउंटर मामले में जेल गए थे शाह

बता दें कि सोहराबुद्दीन एनकाउंटर मामले में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को साल 2010 में जेल जाना पड़ा था. लेकिन सबूतों के अभाव में उन्हें बरी कर दिया गया था. वहीं दूसरी ओर बीएस येदुरप्पा को भ्रष्टाचार के आरोपों की वजह से मुख्यमंत्री की कुर्सी गंवानी पड़ी थी. साथ ही तीन हफ्ते जेल में भी गुजारने पड़े थे, लेकिन बाद में उनको क्लीनचिट मिल गई.

First published: 27 January 2018, 16:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी