Home » राज्य » Karnataka : Indian Navy Captain died in a paramotoring accident
 

कर्नाटक : पैरामोटरिंग करते वक्त इंडियन नेवी कैप्टन की दर्दनाक मौत, वक्त पर नहीं आयी एम्बुलेंस

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 October 2020, 12:05 IST
(Photo Credit: the News Minute)

इंडियन नेवी के एक कैप्टन (Indian Navy Captain) की शुक्रवार को कर्नाटक के कारवार में एक पैरामोटरिंग दुर्घटना (paramotoring accident) में मृत्यु हो गई. अधिकारी अपने परिवार के सदस्यों के साथ आउटिंग पर था. कारवार टाउन पुलिस का कहना है कि कैप्टन मधुसूदन रेड्डी (55) को अरब सागर से रेस्क्यू किया गया था और अस्पताल ले जाते वक्त लगभग 30 मिनट बाद उनकी मृत्यु हो गई. पैरामोटरिंग एक एडवेंचर स्पोर्ट है. इस खेल में राइडर हवा में उड़ जाता है. न्यूज़ मिनट की रिपोर्ट के अनुसार कारवार स्थित 55 वर्षीय कैप्टेन मधुसूदन रेड्डी शुक्रवार को अपने परिवार के सदस्यों के साथ रवींद्रनाथ टैगोर समुद्र तट पर गए थे. उनका परिवार मूल रूप से आंध्र प्रदेश का रहने वाला है.

 


COVID-19 महामारी के कारण रवींद्रनाथ टैगोर बीच पर एडवेंचर खेलों पर प्रतिबंध लगा दिया गया था, लेकिन शुक्रवार को ही इसे फिर से खोला गया था. मधुसूदन रेड्डी और उनका परिवार शुक्रवार शाम को मधुसूदन के दोस्त पैरा पायलट विद्याधर वैद्य के साथ समुद्र तट पर गया था, जिनके पास पैरामोटरिंग इक्विपमेंट भी थे. मधुसूदन के परिवार के सभी सदस्यों ने पैरामोटर का इस्तेमाल किया और और आखिर में उनकी बारी थी. उस वक्त वह समुद्र तल से लगभग 100 मीटर ऊपर थे. इस दौरान मोटर में कुछ खराबी आ गई और मधुसूदन पानी में गिर गए.

कारवार टाउन पुलिस ने कहा कि मधुसूदन रस्सी में उलझ गए थे और पैरामोटर के वजन ने उन्हें समुद्र में खींच लिया. जब यह दुर्घटना हुई उस वक्त उनके साथ विद्याधर वैद्य भी थे और वह भी गिर गए, उन्हें मछुआरों ने तुरंत बचाया. हालांकि उन्हें मधुसूदन को खोजने में अधिक समय लगा. अंत में लगभग 5.30 बजे मधुसूदन को समुद्र से बाहर निकाला गया. पुलिस ने कहा कि जब मधुसूदन को समुद्र तट पर लाया गया था, तब वह जीवित थे. पुलिस ने एम्बुलेंस मंगाई लेकिन वह समय पर नहीं पहुंची. पुलिस ने कहा कि एम्बुलेंस में देरी हो गई जिसके कारण उसे पुलिस की जीप में करवर डिस्ट्रिक्ट अस्पताल ले जाया गया था.

रिपोर्ट के अनुसार पुलिस अधिकारी ने कहा “हमने लगभग 20 मिनट तक इंतजार किया और फिर उसे अस्पताल ले गए. हमें इंतजार करना पड़ा क्योंकि यह प्रोटोकॉल है. अगर कुछ भी गलत होता तो जान के लिए खतरा हो सकता है क्योंकि हम पैरामेडिक्स नहीं हैं. हमने कुछ मिनटों तक इंतजार किया और जब एम्बुलेंस नहीं आई, तो हमें उन्हें पुलिस जीप में डालकर ले जाने का निर्णय करना पड़ा.” पुलिस ने कहा कि मधुसूदन रेड्डी की अस्पताल ले जाते समय मौत हो गई, जो समुद्र तट से आधा किलोमीटर दूर है.

पुलिस ने बताया कि जिला अस्पताल में डॉक्टरों के अनुसार ठंडे पानी के झटके से कप्तान मधुसूदन की मौत हो गई. अधिकारी ने कहा "डॉक्टरों ने हमें बताया कि चूंकि वह अचानक पानी में डूब गए थे, जहां तापमान 15 डिग्री सेल्सियस से कम था और बाहर का तापमान बहुत अधिक था, इसलिए वह सदमे में चले गए थे."

Donald Trump Covid-19 Positive : ट्रंप मिलिट्री हॉस्पिटल में भर्ती, वहीं से देखेंगे प्रचार का कामकाज

First published: 3 October 2020, 11:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी