Home » राज्य » Karnataka: Kumaraswamy's chair will remain or not will be decided today  
 

कर्नाटक : कुमारस्वामी की कुर्सी बचेगी या जाएगी, आज हो जायेगा फैसला

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 July 2019, 8:54 IST

कर्नाटक में सत्तारूढ़ कांग्रेस-जेडी (एस) गठबंधन सरकार को सोमवार को विधानसभा में विश्वास मत का सामना करना पड़ेगा. अभी भी 13 गठबंधन विधायकों की भागीदारी पर कानूनी सवाल लटका हुआ है, जिनके इस्तीफे विधानसभा अध्यक्ष द्वारा अभी स्वीकृत नहीं किये गए हैं. गठबंधन के 15 विधायकों के इस्तीफे ने विपक्षी भाजपा के 105 विधायकों और दो निर्दलीय विधायकों की तुलना में 225 सदस्यीय विधानसभा में एच डी कुमारस्वामी सरकार को अल्पमत में ला दिया है.

गठबंधन के नेताओं ने विश्वास मत में भाग लेने के लिए बागी विधायकों को मनाने की बहुत कोशिश की लेकिन मुंबई में 13 विधायकों ने वीडियो संदेश भेजकर कहा कि वे इस्तीफा देने और गठबंधन में फिर से शामिल होने समर्थन से वापस लेने के अपने फैसले परकयं रहेंगे. हालांकि गठबंधन के लिए उम्मीद की एकमात्र झलक बसपा से दिखाई दी है. बसपा सुप्रीमों मायावती ने अपने विधायक को गठबंधन का समर्थन करने को कहा है. हालांकि गठबंधन ने यह भी दावा किया है कि कम सरकार बढ़ा लेंगे.

 

भाजपा के राज्य प्रमुख बी एस येदियुरप्पा ने कहा, “कुमारस्वामी कह रहे हैं कि वह मुख्यमंत्री की कुर्सी पर नहीं टिकना चाहते हैं. पिछले तीन दिनों में कर्नाटक के लोगों को यह पता चल गया है कि वह मुख्यमंत्री की कुर्सी से किस हद तक चिपके हुए हैं. ”

विद्रोही विधायकों के साथ अपने मुद्दों को हल करने के लिए वार्ता आयोजित करने की पेशकश करते हुए, मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने रविवार को एक बयान में कहा, “विश्वास मत पर बहस के लिए समय मांगने का मेरा एकमात्र उद्देश्य पूरे देश को यह बताना है कि भाजपा, जो नैतिकता की बात करती है, वह संविधान के साथ-साथ लोकतंत्र सिद्धांतों को पलटने कोशिश कर रही है.

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक का विवादित बयान, बोले- भ्रष्ट नेताओं को गोली मारें आतंकी

 

First published: 22 July 2019, 8:54 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी