Home » राज्य » Karur Collector Drops his car driver himself on the retirement day
 

कलेक्टर के इस सम्मान से रिटायरमेंट के दिन भावुक हो गया कार ड्राइवर

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 May 2018, 15:52 IST
(Twitter Photo)

किसी कर्मचारी के रिटायर होने का समय भावुक करने वाला होता है. लंबी नौकरी के बाद हमेशा के लिए उस दफ्तर को छोड़ देना, जहां हर दिन आना-जाना होता है एकदम से बंद हो जाता है. लेकिन रिटायरमेंट के पलों को कुछ चीजें यादगार बना देती हैं. ऐसा ही हुआ कुछ तमिलनाडु के परामासिवम के रिटायरमेंट के दौरान.

दरअसल, परामासिवम करूर के जिलाधिकारी कार्यालय में उनके ड्राइवर के तौर पर तैनात थे. जिनका 30 अप्रैल 2018 को रिटायरमेंट हो गया. परामासिवम ने अपनी 35 साल की नौकरी में करीब 8 कलेक्टर और कई नौकरशाहों की गाड़ियां चलाईं. 30 अप्रैल को जब वे रिटायर हुए तो कलेक्टर साहब खुद उनकी ड्राइवर वाली सीट पर बैठ गए.

बता दें कि करूर जिले के कलेक्टर टी. अन्बाझगन ने मार्च 2018 में जिले का चार्ज संभाला था. उन्होंने 29 अप्रैल के दिन अपने सरकारी ड्राइवर परामासिवम के रिटायर पर पूरे आॅफिस को पार्टी दी. यही नहीं इसके बाद उन्होंने रिटायरमेंट के दिन परामासिवम और उनकी पत्नी के लिए खुद कार का दरवाजा खोला और उन्हें खुद कार चलाकर उनके घर तक छोड़कर आए.

इससे पहले ड्राइवर परामासिवम ने इंकार किया, लेकिन कलेक्टर टी. अन्बाझगन के कहने पर उन्होंने हां कर दी. वह कार में पीछे बैठ गए, जबकि कलेक्टर खुद गाड़ी चलाकर ले जा रहे थे. परामासिवम इन पलों को अपनी जिंदगी के सबसे यादगार पल बताते हैं और अपने अफसर पर गर्व करते हैं. परामासिवम कहते हैं कि, "मैं पूरी तरह भौंचक्का रह गया. मैंने ये कभी भी नहीं सोचा था कि इस तरह की बात मेरे साथ होगी. ये जानकर कि मेरी भूमिका की भी कद्र की गई, मैं अपने अफसर का आभारी हूं. मुझे गर्व है कि मैं अपने राज्य की कुछ सेवा कर सका.”

Twitter Photo

बता दें कि कलेक्टर टी. अन्बाझगन परामासिवम को उनके घर तक छोड़ा. वहीं परामासिवम ने भी कलेक्टर को अपने घर पर चाय के लिए आमंत्रित किया. उसके बाद कलेक्टर ने भी उनके निमंत्रण को स्वीकार किया और उनके परिवार के साथ चाय पी और काफी देर तक बातें कीं.

ये भी पढ़ें- लव-मैरिज करने वाले जोड़े को गांव की पंचायत ने सुनाया अजीब फरमान

First published: 3 May 2018, 15:52 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी