Home » राज्य » Dubbing artist Bhagya Lakshmi reveals horrific story of a gang rape victim, Kerala CM promises action
 

गैंगरेप के बाद महिला से पुलिस इंस्पेक्टर ने पूछा- 'चार में से किसने ज्यादा आनंद दिया'

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 November 2016, 15:26 IST

केरल में गैंगरेप के एक मामले में पुलिस इंस्पेक्टर की बदसलूकी का हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. दरअसल राज्य की मशहूर डबिंग आर्टिस्ट भाग्यलक्ष्मी ने फेसबुक पर एक पोस्ट शेयर किया, जिसके बाद सामने आए इस मामले ने केरल में हड़कंप मचा दिया है.  

भाग्य लक्ष्मी का यह फेसबुक पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. कई लोगों ने इसे शेयर किया. जिसके बाद मामला राज्य के मुख्यमंत्री पिनारायी विजयन तक पहुंचा. सीएम ऑफिस ने इस मामले में कार्रवाई का भरोसा दिया है. इसके साथ ही मुख्यमंत्री और केरल के डीजीपी भी पीड़ित महिला से मुलाकात करने वाले हैं.

केरल के त्रिशूर जिले में पति के चार दोस्तों द्वारा महिला से कथित रूप से गैंगरेप किया गया. महिला का आरोप है कि पुलिस के रवैए से अपमानित होकर उसे मजबूरन अपनी शिकायत वापस लेनी पड़ी.

केरल की डबिंग आर्टिस्ट भाग्यलक्ष्मी का फेसबुक पोस्ट वायरल होने के बाद मामले का खुलासा हुआ. (फेसबुक)

डबिंग आर्टिस्ट भाग्य लक्ष्मी का पोस्ट

केरल की डबिंग आर्टिस्ट भाग्यलक्ष्मी ने फेसबुक पर एक पोस्ट किया. इसमें उन्होंने लिखा, "एक पुलिस अधिकारी ने गैंगरेप की शिकार उस महिला से कथित तौर पर पूछा कि उन चार लोगों में से किसने तुम्हें सबसे ज्यादा आनंद दिया?"

पीड़ित महिला की उम्र 35 से 40 साल के बीच बताई जा रही है. गैंगरेप का आरोप जिन चार लोगों पर है उनमें से एक राजनेता भी है.

'रेप से ज्यादा पुलिस ने अपमानित किया'

पीड़ित महिला और उसका पति गुरुवार को पहचान छिपाकर मीडिया के सामने आए और अपनी दर्दनाक कहानी बयां की. महिला ने कहा, "मैं पुलिस केस नहीं चाहती थी, क्योंकि पुलिस हमें अपमानित करती रही है. रेप से ज्यादा, पुलिस की धमकियां और ज्यादतियां बर्दाश्त से बाहर हो गई थीं."

भाग्यलक्ष्मी ने अपने पोस्ट में आगे लिखा, "महिला जब अपने पति के साथ मुझसे मिलने के लिए आई, तो उसके आंसू रोके नहीं रुक रहे थे." हाल ही में एक टेलीविजन कार्यक्रम में भाग्यलक्ष्मी को देखने के बाद पीड़ित ने उनसे संपर्क किया था.

दो साल पहले की घटना

तिरुवनंतपुरम से करीब 280 किलोमीटर दूर त्रिशूर की रहने वाली 35 साल की महिला ने मीडिया के सामने पूरे घटनाक्रम के बारे में बताया.

पीड़ित के मुताबिक दो साल पहले उनके पति जब बाहर गए हुए थे, तब पति के चार दोस्त घर पर आए और कहा कि उनके पति अस्पताल में भर्ती हैं.

फेसबुक पोस्ट में भाग्यलक्ष्मी ने लिखा, "महिला उन लोगों पर भरोसा करती थी, इसलिए वह उनके साथ चली गई, लेकिन वे कार को दूसरे रास्ते पर ले जाते हुए शहर के बाहर ले गए."

एक आरोपी बड़ा राजनेता

डबिंग आर्टिस्ट ने आगे लिखा, "उसके पति के चार दोस्त उसे शहर के बाहर लेकर गए और वहां बारी-बारी से उस महिला के साथ बलात्कार किया. एक शख्स एक राजनीतिक पार्टी में बड़े ओहदे पर है."

फेसबुक पोस्ट में उन्होंने लिखा, "महिला ने बताया कि वह इतने दर्द और सदमे में थी कि तीन महीनों के बाद अगस्त में अपने पति को घटना के बारे में बताने की हिम्मत जुटा पाई."

पति के दबाव डालने के बाद गैंगरेप की इस घटना की शिकायत पुलिस से की गई, लेकिन इसके बाद पुलिस ने जो घिनौना सलूक किया, उससे इंसाफ मिलने के बजाए पीड़ित महिला के दुखों में इजाफा होता गया.

आरोपियों के सामने पूछे आपत्तिजनक सवाल

आरोपों के मुताबिक पुलिस ने उन चारों आरोपियों को थाने बुलाया और उल्टे पीड़िता को ही प्रताड़ित करते हुए घटना को लेकर कई बेतुके और अपमानजनक सवाल पूछ डाले.

भाग्यलक्ष्मी ने अपनी पोस्ट में आगे लिखा, "उसने तीन महीने बाद शिकायत दर्ज कराई थी और इस वजह से अपना केस कमजोर होने की सोचकर और पुलिस के रवैए को देखते हुए उसने अपना केस वापस ले लिया.

डबिंग आर्टिस्ट ने कहा कि जिशा और सौम्या खुशकिस्मत थीं जो मर गईं, नहीं तो उनको भी इसी तरह का अपमान सहना पड़ता. केरल सरकार ने इस मामले के सामने आने के बाद मुख्य सचिव को भी कदम उठाने के निर्देश दिए हैं.

First published: 3 November 2016, 15:26 IST
 
अगली कहानी