Home » राज्य » Kerala Nun Rape Case: Church outs photo of victim to save accused Bishop
 

केरल नन रेप केस: चर्च ने बिशप पर रेप का आरोप लगाने वाली नन की फोटो कर दी जारी, केस दर्ज

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 September 2018, 13:37 IST

केरल में नन से रेप के मामले में जहां एक तरफ बिशप फ्रैंको मुलक्कल की गिरफ्तारी की मांग हो रही हो. वहीं दूसरी तरफ मिशनरीज ऑफ जीसस ने बिशप के समर्थन में नन की फोटो ही जारी कर दी. जिसके बाद बवाल खड़ा हो गया है. 

बता देें कि सुप्रीम कोर्ट के दिशा-निर्देश के अनुसार कोई भी रेप विक्टिम की तस्वीर या जानकारी सार्वजनिक नहीं कर सकता है. लेकिन चर्च ग्रुप ने मिशनरीज ऑफ जीसस की जांच कमिशन को जांच में मिले तथ्य सामने रखते हुए पीड़िता की फोटो जारी कर दी.

पढ़ें- रेवाड़ी रेप केस: BJP विधायक बोलीं- बेरोजगारी के चलते युवा करते हैं रेप

चर्च ग्रुप ने कहा कि पीड़िता ने पांच दूसरी नन के साथ मिलकर जालंधर बिशप के खिलाफ साजिश रची है. कमिशन ने दावा किया कि नन का आरोप झूठा है कि बिशप 5 मई, 2015 को कुरविलंगाड़ में रुके थे. चर्च ने कहा कि 23 मई, 2015 को एक फोटो में बिशप के साथ वे देखे जा सकते हैं और इससे साबित होता है कि रेप नहीं हुआ है.

ज्ञात रहे कि मिशनरीज ऑफ जीसस शुरू से ही बिशप मुलक्कल पर लगे आरोपों को साजिश बता रहा है. कमीशन ने कहा कि पीड़िता ने अपने दोस्तों से विजिटर्स रजिस्टर में छेड़छाड़ कराई और मदर सुपीरियर से सीसीटीवी का कंट्रोल कर लिया. कमिशन ने फ्रैंको मुलक्कल को निर्दोष बताया और कहा कि नन बदला लेने के लिए ऐसा कर रही हैं.

पढ़ें-केरल: विधायक ने नन को कहा 'वेश्या'- 12 बार लिए मजे और 13वीं बार बलात्कार हो गया?

गौरतलब है कि केरल हाई कोर्ट ने तीन याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए मामले की जांच से संतुष्टि जताई है और कहा है कि यह जांच अधिकारी पर निर्भर करता है कि बिशप को गिरफ्तार करना है या नहीं. कोर्ट ने सीबीआई को भी जांच सौंपने से इनकार कर दिया है.

First published: 15 September 2018, 13:37 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी