Home » राज्य » Lockdown: Kerala government in a strange trouble, now considering online sale of liquor
 

लॉकडाउन: एक अजीब मुसीबत में केरल सरकार, अब शराब की ऑनलाइन बिक्री पर कर रही विचार

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 March 2020, 14:26 IST

coronavirus lockdown: 21 दिन के लॉकडाउन के दौरान शराब न मिलने कारण दो लोगों की मौत के बाद केरल सरकार अब शराब की ऑनलाइन बिक्री की अनुमति देने की योजना पर विचार कर रही है. मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने कहा कि सरकार लोगों में शराब की लत की वजह से शराब की आपूर्ति की संभावना पर विचार कर रही है क्योंकि लॉकडाउन के दौरान शराब की दुकानों को बंद करना सामाजिक समस्याएं पैदा कर रहा है. केरल सरकार ने आबकारी विभाग से कहा है कि वे डॉक्टर से पर्चे के साथ वाले लोगों को शराब दें.

सीएम ने कहा जिनमें अल्कोहल विथड्रावल के लक्षण होंगे उन्हें नशामुक्ति केंद्रों में भेजा जाएगा. त्रिशूर जिले के कोडंगलूर में शनिवार को एक युवक ने वापसी के अल्कोहल विथड्रावल लक्षणों से पीड़ित होने के बाद नदी में कूदकर आत्महत्या कर ली. एक अन्य घटना में कयाकमुलम में एक नाई की दुकान में काम करने वाले 38 वर्षीय व्यक्ति ने शराब नहीं पीने के बाद शेविंग लोशन पी लिया. उसे बेचैनी होने के बाद अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मृत्यु हो गई.


इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने डॉक्टर के पर्चे के आधार पर शराब की लत वाले लोगों को शराब की आपूर्ति करने की केरल सरकार की योजना की निंदा की है, कहा है यह वैज्ञानिक कारण नहीं है. आईएमए के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. अब्राहम वर्गीज ने कहा कि विथड्रावल लक्षण वालों को वैज्ञानिक उपचार मुहैया कराया जाना चाहिए जो घरों में दिया जा सकता है या उन्हें अस्पतालों में भर्ती कराने के बाद दवाइयां दी जा सकती हैं.

उन्होंने कहा कि "ऐसे लोगों को शराब की आपूर्ति करने के कदम को वैज्ञानिक आधार पर स्वीकार नहीं किया जा सकता है. डॉ. वर्गीज ने कहा कि डॉक्टर के पर्चेपर इसे लिखने का कोई कानूनी दायित्व नहीं है.

Coronavirus: लॉकडाउन को 21 दिन से आगे बढ़ाने का अभी कोई प्लान नहीं, खबरें हैं झूठी : सरकार

First published: 30 March 2020, 13:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी