Home » राज्य » malkajgiri court sentenced two year prison to son daughter in law
 

बेटे-बहू के अत्याचारों से परेशान होकर मां पहुंची कोर्ट, अदालत ने सुना दी ये सजा

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 July 2019, 9:12 IST

बुजुर्ग मां को परेशान करने के आरोप में कोर्ट ने बेटे और बहू को दो साल कैद की सजा सुनाई. यह घटना हैदराबाद की है. जहां एक बुजुर्ग महिला प्रेमा को उसके ही बेटे अमित कुमार और बहु सविता ने जीना मुहाल कर दिया था. आय दिन बेटे और बहु प्रेमा के साथ मारपीट करते थे, लेकिन हद तो तब हो गई. जब प्रेमा को पता चला कि उसके बेटे ने फर्जी तरीके से उसके नाम का मकान अपने नाम लिखा लिया है.

पति के निधन के बाद शुरू हुआ खेल

प्रेमा कुमारी (70) के दो बेटे और एक बेटी है. तीनों बच्चों की शादी हो चुकी है, जो अब अलग-अलग रहते हैं. जब साल 2013 में परिवार के मुखिया यानि प्रेमा के पति अमरुद्ध कुमार की मौत हो गई. तब से प्रेमा के बड़े बेटे अमित कुमार की नजर उसके घर पर थी. शुरू-शुरू में घर हथियाने के लिए वह घर आकर रहता और मां की सेवा करने लगता था. धीरे-धीरे करके उसने पिता के नाम से मकान अपने नाम ट्रांसफर करा लिया. प्रेमा इस बात से बिलकुल अंजान थी.

जैसे ही अमित कुमार ने मकान अपने नाम करवाया. तैसे ही अमित कुमार और उसकी पत्नी प्रेमा को घर से निकालने की साजिश रचने लगी. लेकिन प्रेमा घर छोड़ना नहीं चाहती थी. इस वजह से दोनों उस पर अत्याचार करने लगे.

प्रेमा कुमारी के अनुसार, "बहू गालियां देती थी और कुछ बोलने पर बेटा मारता था." प्रेमा ने बताया कि वह बेटे और बहु के अत्याचारों को अपनी किस्मत समझकर चुपचाप सहती रही. उसने इस बात की शिकायत किसी से नहीं की. यहां तक की प्रेमा ने अपने बेटे-बहू के अत्याचारों को अपने बेटे और बेटी के सामने नहीं की. लेकिन जब 2015 में राजस्व विभाग के कुछ लोग घर पर आए, तो प्रेमाा को पता चला कि मकान कि अमित कुमार ने उसके पति के मकान को अपने नाम लिखा लिया है. बल्कि नियमानुसार, पति की मौत के बाद मकान पत्नी के नाम ट्रांसफर होता है. इस बात से आहत होकर प्रेमा कोर्ट जा पहुंची.

सबसे पहले प्रेमा ने इस घटना की जानकारी अपने छोटे बेटे को दी. इस घटना को सुनकर छोटे बेटे ने इसकी शिकायत नारेदमेट पुलिस थाने में दर्ज करवाई. नारेदमेट पुलिस ने बड़े बेटे अमित कुमार और बहू सविता के खिलाफ अपनी मां प्रेमा कुमारी को अपमानित करने, बंधक बनाने, जान से मारने की धमकी देने और फर्जी दस्तावेज तैयार करने के आरोप में शिकायत दर्ज कर ली.

यह मामला जब मलकाजगिरी कोर्ट में पहुंचा, तो कोर्ट में कलयुगी बेटे और बहू की करतूत साबित हो गई. कोर्ट ने बेटे अमित कुमार और बहू सविता को 2 साल की कैद के साथ 20 हजार रुपये का जुर्माना लगाया.

कोर्ट के फैसले के बाद मां प्रेमा ने कहा, "इससे उन बच्चों को सबक मिलेगा, जो अपने माता-पिता को बोझ समझकर उन्हें दूध से मक्खी की तरह निकाल फेंकना चाहते हैं."

चंद्रयान-2 लॉन्च होने से झूमा सोशल मीडिया, पाकिस्तान की कुछ इस तरह ले रहा मजे

First published: 23 July 2019, 9:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी