Home » राज्य » Nagaland DGP: Situation under control in Dimapur there was some violence in Kohima
 

नगालैंड: निकाय चुनाव में महिला आरक्षण पर महाभारत, कोहिमा में सेना तैनात

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 February 2017, 10:00 IST
(पीटीआई)

पूर्वोत्तर के राज्य नगालैंड में हालात तनावपूर्ण हैं. स्थानीय निकाय चुनाव में महिलाओं को 33 फीसदी आरक्षण के विरोध में कोहिमा और दीमापुर में हिंसा भड़क उठी. 

दीमापुर में प्रदर्शनकारियों ने मुख्यमंत्री  टीआर जेलिआंग के आवास के अलावा कोहिमा नगर परिषद की इमारत को फूंक दिया. हालांकि गनीमत यह रही कि सीएम कोहिमा के अपने सरकारी आवास में मौजूद थे. हालात पर काबू पाने के लिए सेना की पांच टुकड़ियों को तैनात किया गया है. 

नगालैंड के डीजीपी का कहना है कि दीमापुर में हालात सुध रहे हैं. वहीं कोहिमा में हिंसा की घटनाएं हुई हैं. डीजीपी के मुताबिक अभी हालात काबू में हैं. विरोध प्रदर्शन के दौरान पुलिस से संघर्ष में दो युवकों की मौत के बाद हिंसा भड़क उठी थी. हिंसक भीड़ ने कई सरकारी इमारतों को आग के हवाले कर दिया. 

नगर निकाय चुनाव अमान्य घोषित

नगालैंड ट्राइब्स एक्शन कमेटी (एनटीएसी) ने सीएम जेलिआंग और उनकी कैबिनेट को इस्तीफा देने, पुलिस फायरिंग के खिलाफ दीमापुर पुलिस कमिश्नर को हटाने और नगर निकाय चुनावों को अमान्य घोषित करने की मांग की. 

एनटीएसी के दबाव में जेलिआंग ने चुनाव प्रक्रिया को अमान्य घोषित कर दिया. इसके अलावा दीमापुर के पुलिस कमिश्नर का ट्रांसफर कर दिया गया.  सीएम ने एनटीएसी के शाम चार बजे के दिए अल्टीमेटम के पूरा होने से पहले ही कार्रवाई की, लेकिन भीड़ ने आरटीओ दफ्तर समेत कई सरकारी भवनों में आग लगा दी. 

नगालैंड के दीमापुर और लोंगलेंग में हिंसा की शुरुआत मंगलवार रात को हुई थी, जब पुलिस के साथ झड़प के दौरान दो युवकों की मौत हो गई.

First published: 3 February 2017, 10:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी