Home » राज्य » Nirbhaya Kand repeated in Bihar, minor girl gangraped & thrown from running train
 

निर्भया कांड की याद दिलाता बिहार, गैंगरेप के बाद नाबालिग को चलती ट्रेन से फेंका

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 June 2017, 17:41 IST

बिहार में हुए एक हैवानियत भरे गैंगरेप ने निर्भया कांड की याद एक बार फिर से ताजा कर दी है. अपने घर से बाहर जा रही एक नाबालिग को पहले बदमाशों ने अगवा कर लिया और फिर उसे बेहोश कर ट्रेन में ले गए और गैंगरेप के बाद उसे चलती ट्रेन से बाहर फेंक दिया.

जानकारी के मुताबिक लखीसराय में चानन थाना क्षेत्र की एक नाबालिग लड़की घर से निकली थी. नाबालिग का आरोप है कि रास्ते में उसे मृत्युंजय कुमार (भोथी) और संतोष कुमार ने अगवा कर लिया और इसके बाद पास के खेत में ले जाकर गैंगरेप किया.

दोनों की हैवानियत यहीं खत्म नहीं हुई और उन्होंने अपने अन्य साथियों को भी बुला लिया. इसके बाद सात-आठ युवकों ने उसके साथ गैंगरेप किया.

बेहोश हो जाने के बाद आरोपी उसे पास के वंशीपुर रेलवे स्टेशन ले गए और फिर वहां आई मौर्य एक्सप्रेस की एक बोगी में साथ चढ़ाने के बाद वहां फिर से गैंगरेप किया. दरिंदों ने इसके बाद उसे किउल रेलवे स्टेश पर चलती ट्रेन से नीचे फेंका और फरार हो गए.

शुक्रवार सुबह किउल रेलवे स्टेशन में नाबालिग नाजुक हालत में मिली. उसकी कई हड्डियां टूट चुकी थीं और वो बेहोश थी. उसके प्राइवेट पार्ट में गंभीर चोटें थीं और इसके लिए डॉक्टरों को दो दर्जन से ज्यादा टांके लगाने पड़े. फिलहाल अस्पताल में उसका इलाज चल रहा है.

वहीं, दूसरी तरफ पुलिस इस मामले को प्रेम प्रसंग का रूप देने में जुटी हुई है. स्थानीय एसपी के मुताबिक यह मामला गैंगरेप का नहीं है. इतना ही नहीं उन्होंने लड़की की चोटों की वजह परिजनों की पिटाई बताई. हालांकि क्या प्राइवेट पार्ट में लगी गंभीर चोट भी परिजनों की पिटाई से आई, पर उन्हें कोई जवाब नहीं मिला.

First published: 18 June 2017, 17:41 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी