Home » राज्य » non-veg biryani to Hindus’ at Mahoba Urs, FIR filed
 

महोबा उर्स में परोसी गई नॉनवेज बिरयानी, 23 लोगों पर FIR दर्ज

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 September 2019, 16:40 IST

उत्तर प्रदेश के महोबा में पुलिस ने 23 लोगों के खिलाफ धर्म के आधार पर समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देने और धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आरोप में एक एफआईआर दर्ज की है. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार इन लोगों पर आरोप है कि उन्होंने एक मुस्लिम धार्मिक मंडली में हिंदुओं को बिना बताये मांसाहारी बिरयानी परोसी. पुलिस ने कहा कि स्थानीय भाजपा विधायक बृजभूषण राजपूत के हस्तक्षेप के बाद मामला दर्ज किया गया है.

रिपोर्ट के अनुसार एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि शिकायतकर्ता मुकदमा वापस लेने के लिए एक हलफनामा देने को तैयार था, लेकिन विधायक ने उसे शिकायत दर्ज करने का आग्रह किया. यह घटना जिले के चरखारी थाना क्षेत्र में 31 अगस्त को उर्स के दौरान हुई थी, जो सालत गांव के मुस्लिम निवासियों द्वारा आयोजित एक धार्मिक मंडली थी. स्थानीय लोगों के अनुसार स्थानीय मंडली में पिछले छह सालों से हर साल धार्मिक मंडली का आयोजन किया जाता है एफआईआर में कहा गया है कि हिंदुओं को जानबूझकर उनकी धार्मिक भावनाओं को आहत करने के लिए भैंस का मांस चावल के साथ मिलाया गया.

रिपोर्ट के अनुसार भाजपा विधायक ने कहा कि जब उन्हें इस घटना के बारे में पता चला, तो उन्होंने ग्रामीणों से प्राथमिकी दर्ज करने के लिए कहा. विधायक ने कहा ''सलात गांव में एक उर्स आयोजित किया गया था. हिंदू यहां बहुमत में हैं, भाग लेते हैं और यहां तक कि दान भी देते हैं. इस साल भी 13 गांवों के लगभग 10,000 लोग इसमें भाग लेने आए थे''. रिपोर्ट के अनुसार विधायक ने कहा “इस साल जब दावत शुरू हुई तो कई हिंदुओं को बाबा का प्रसाद होने के बहाने चावल परोसा गया.

उन्होंने कहा ''जब कुछ लोगों ने इसे खाना शुरू किया, तो उन्हें मांसाहार और हड्डियाँ मिलीं. जब यह मामला आगे बढ़ा तो एक पंचायत बुलाई गई, जिसमें मुख्य आरोपी ने स्वीकार किया कि गलती से भैंस का मांस परोसा गया था. उसने माफी मांगी और शुद्धिकरण की व्यवस्था करने के लिए 50,000 रुपये देने की पेशकश की. जबकि कुछ लोग इसके लिए सहमत थे''. विधायक ने कहा ''कुछ लोग मेरे पास आए. मैंने गाँव में जाकर जिम्मेदार लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के लिए कहा क्योंकि उन्होंने जानबूझकर हमारी धार्मिक भावनाओं को आहत किया है''.

इस राज्य में नहीं लागू हुआ मोटर व्हीकल एक्ट, लोगों को ऐसे किया जा रहा है जागरूक

First published: 5 September 2019, 16:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी