Home » राज्य » One SDM posted in MP, they want to leave with Abu salem in jail
 

माफिया डॉन अबु सलेम के साथ जेल में रहना चाहते हैं एमपी के एक एडीएम

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 May 2017, 14:40 IST
Abu salem

मध्य प्रदेश के गुना जिले के अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट (एडीएम) नियाज खान ने जिला मजिस्ट्रेट राजेश जैन को पत्र लिखा और माफिया गैंगस्टर अबू सलेम के साथ जेल में समय बिताने की इजाजत मांगी है.

एसडीएम नियाज खान का कहना है कि वह एक महीना अबू सलेम के साथ रहना चाहते हैं क्योंकि वह सलेम पर कहानी लिख रहे हैं.

नियाज खान ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया, “मैं अपना पांचवा नॉवेल लिख रहा हूं जो अबू सलेम की जिंदगी पर आधारित होगा. सलेम के चरित्र और अन्य बातों को जानने के लिए मैने सरकार से जेल में रहने की इजाजत मांगी है."

वहीं एसडीएम नियाज खान के पत्र के आधार पर डीएम राजेश जैन ने इसके स्वीकृति के लिए भोपाल के वरिष्ठ अधिकारी को भेजा है.

खबरों के मुताबिक नियाज खान का पांचवे नॉवेल एक थ्रिलर है जिसका नाम ‘लव डिमांड ब्लड’ है. इस नॉवेल को पूरा करने के लिए नियाज खान सलेम की जिंदगी को बेहतर तरीके से जानना चाहते हैं.

गौरतलब है कि अबू सलेम को साल 1995 में बिल्डर प्रदीप जैन की हत्या के मामले में उम्र कैद की सजा काट रहा है. इसके अलावा सलेम के खिलाफ अब भी लगभग 54 आपराधिक मामले कोर्ट में लंबित हैं.

गौरतलब है कि महाराष्ट्र की नवी मुंबई के पास स्थित तलूजा सेट्रल जेल में बंद कुख्यात गैंगस्टर उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ का रहने वाला है.

सलेम को उसके पिता ने मुंबई में पैसा कमाने के लिए भेजा था लेकिन यहां पर कुछ दिन शराफत से जिंदगी बिताने के बाद वह डी कंपनी से जुड़ गया था.

पहले तो सलेम दाऊद का ड्राइवर बनकर डी कंपनी के लिए काम कर रहा था लेकिन उसके बाद वह डी कंपनी का शार्प शूटर बन गया. अबु सलेम साल 1993 में मुंबई में हुए सीरीयल बम ब्लास्ट का भी मुख्य आरोपी है.

First published: 4 May 2017, 12:39 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी