Home » राज्य » Personal enmity of two relatives of ministers reaches in police station
 

इस बदनाम राज्य में मंत्रियों के रिश्तेदारों का लेन-देन पहुंच गया थाने तक

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 September 2017, 15:32 IST

मध्य प्रदेश सरकार के प्रभावशाली और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के करीबी दो मंत्रियों के परिजनों और रिश्तेदारों के बीच लेन-देन का विवाद इतना बढ़ गया कि मामला पुलिस तक पहुंच गया है. दोनों पक्षों की शिकायत पर पुलिस मामले की जांच कर रही है.

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, रायसेन जिले के उदयपुरा थाना क्षेत्र में खनिज मंत्री राजेंद्र शुक्ल के भाई विनोद शुक्ल की वीकेएस कंपनी का सिलवानी टोल बैरियर के पास निर्माण कार्य चल रहा है. यह टोल नाका मध्य प्रदेश रोड डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन (एमपीआरडीसी) के अधीन आता है. वहीं सिलवानी-उदयपुरा मार्ग पर लोकनिर्माण मंत्री रामपाल सिंह के रिश्तेदार वीरेंद्र सिंह का डामर प्लांट है.

रायसेन के पुलिस अधीक्षक जगत सिंह राजपूत ने बुधवार को आईएएनएस को बताया कि विनोद शुक्ल और वीरेंद्र सिंह के बीच लेन-देन का विवाद है. इस मामले की पुलिस में शिकायत की गई है. हालांकि दोनों के बीच के विवाद का खुलासा नहीं किया गया है. पुलिस विवाद की जांच कर रही है जिसके बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी. फिलहाल किसी भी पक्ष के खिलाफ प्रकरण दर्ज नहीं किया गया है. इस प्रकरण को लेकर दोनों मंत्रियों से आईएएनएस ने संपर्क किया, मगर उनसे संपर्क नहीं हो सका.

First published: 20 September 2017, 15:32 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी