Home » राज्य » Prostitution goes Hi tech in Kerala according to a study
 

केरल में हाईटेक हुई वेश्यावृत्ति, WhatsApp से तय किया जाता है मिलने का स्थान

न्यूज एजेंसी | Updated on: 10 April 2018, 12:24 IST

आज बिजनेस चलाने के लिए हाईटेक तकनीक का जमकर इस्तेमाल किया जा रहा है. ज्यादातर बिजनेस अब स्मार्टफोन से ही संभालने जाने लगे हैं. ऐसे में केरल में भी स्मार्टफोन से एक गोरखधंधा खूब फल-फूल रहा है. हाल ही में किए गए एक शोध में पता चला है कि केरल में वेश्यावृत्ति जैसे धंधे को चलना के लिए स्मार्टफोन का खूब इस्तेमाल किया जा रहा है.

शोध में पता चला है इस धंधे से जुड़े लोग स्मार्टफोन में वॉट्सएप के जरिए इस गोरखधंधे को चला रहे हैं. जिसमें मुलाकात का स्थान भी तय करते हैं. यह खुलासा केरल राज्य एड्स नियंत्रण समाज (केएसएसीएस) द्वारा गैर सरकारी संगठनों के साथ मिलकर कराए गए एक शोध में हुआ है.

केएसएसीएस परियोजना के निदेशक आर. रमेश ने न्यूज एजेंसी आईएएनएस से बातचीत में कहा कि ये नंबर उन लोगों के हैं जो पंजीकृत हैं. रमेश ने कहा, "हम लगातार इन लोगों के साथ काम करने में व्यस्त रहते हैं और यौन संबंध संचारित रोगों से बचाव के लिए इन लोगों को नियमित मेडिकल जांच की सुविधा प्रदान करते हैं."

उन्होंने कहा कि इस पेशे से जुड़ीं अधिकांश महिलाएं गरीब परिवारों से हैं, लेकिन इसमें एक, दूसरे और तीसरे वर्ग के लोग भी शामिल हैं. रमेश ने कहा, "दूसरे वर्ग में वे लोग हैं, जो पार्ट टाइम पेशेवर हैं और वेश्यावृत्ति से तब जुड़ते हैं, जब पैसे की जरूरत होती है. तीसरे वर्ग में वे शामिल हैं, जो विलासितापूर्ण जीवनशैली जीना चाहते हैं. तकनीक का आगमन सभी के लिए काफी फायदेमंद साबित हुआ है."

बता दें कि केरल में फिलहाल 15,802 महिलाएं और 11,707 पुरुष वेश्यावृत्ति से जुड़े हुए हैं. इनके बीच दो महिलाएं और 10 पुरुष एचआईवी पॉजिटिव पाए गए हैं.

ये भी पढ़ें- अंतरिक्ष में बनेगा दुनिया का पहला होटल, एक दिन के लिए देने होंगे इतने रुपये

First published: 10 April 2018, 12:24 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी