Home » राज्य » Puducherry Lt governor Kiran Bedi suspends free rice distribution till villages are open-defecation free
 

PM मोदी के अभियान को पूरा करने के लिए पुडुचेरी की LG किरण बेदी ने सुनाया तुगलकी फरमान

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 April 2018, 14:27 IST

पुडुचेरी लेफ्टिनेंट गवर्नर किरण बेदी ने अधिकारियों से कहा है कि  यूनियन टेरिटरी के ग्रामीणों को तब तक मुफ्त चावल का वितरण नहीं किया जाएगा जब तक स्थानीय प्रशासन एक संयुक्त प्रमाण पत्र प्रस्तुत नहीं करता है कि क्षेत्र खुले में खुले शौच मुक्त और कचरा मुक्त हो गया है. पुडुचेरी की एलजी के आदेश पर विवाद छिड़ सकता है क्योंकि शौच मुक्त और कूड़ा मुक्त बनाना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के 'स्वच्छ भारत अभियान' का ही एक हिस्सा हैं.

मोदी सरकार लगातार अपने लक्ष्य पूरा करने के लिए प्रयासरत है. राज्यपाल किरण बेदी ने इसके लिए स्थानीय अधिकारियों को चार सप्ताह का अल्टीमेटम भी दिया है, जिसकी समय सीमा 31 मई को समाप्त होगी. किरण बेदी के ऑफिस की ओर से कहा गया है कि तब तक मुफ्त चावल की आपूर्ति रोककर स्टोर में जमा की जाएगी. 

 

किरण बेदी ने यूनियन टेरिटरी के विधायकों को लिखा, "मैं ग्रामीण क्षेत्रों में स्वच्छता की धीमी गति से बहुत दुखी हूं, पिछले दो सालों में मैंने स्थानीय प्रतिनिधियों और सरकारी अधिकारियों को ग्रामीण पुडुचेरी को समय सीमा के भीतर साफ करने के लिए दृढ नहीं देखा. मुझे खेद है कि यह ऐसे आगे नहीं बढ़ सकता है." बेदी ने कहा कि उन्होंने क्षेत्र के नेताओं को अपने निर्वाचन क्षेत्र में गांवों को साफ करने के लिए उत्साहित नहीं देखा. लेफ्टिनेंट गवर्नर ने अपने आदेश में गांवों में पानी से उत्पन्न बीमारियों का भी हवाला दिया है.

ये भी पढ़ें : गुजरात: चार साल के बच्चे से दुष्कर्म व हत्या के आरोपी को मिली मौत की सजा

इससे पहले भी किरण बेदी ने चेन्नई एयरपोर्ट पर शौचालयों के रखरखाव को लेकर अधिकारियों की खिंचाई की थी. जिसके बाद अधिकारियों को सफाई के लिए मजबूर होना पड़ा था.

First published: 28 April 2018, 14:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी