Home » राज्य » Punjab Government new circular teachers can not do retirement farewell party
 

पंजाब सरकार का नया फरमान, रिटायरमेंट के वक्त टीचर्स नहीं कर सकते फेयरवेल

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 July 2018, 9:26 IST

पंजाब सरकार ने अध्यापकों के लिए नया फरमान जारी किया है. पंजाब सरकार ने टीचर्स के रिटायरमेंट पार्टी पर रोक लगाने का फैसला किया है. राज्य के मंत्री ओपी सोनी ने बताया कि विभाग के सचिव ने दो सर्कुलर निकाले हैं. इनको पंजाब के तमाम सरकारी स्कूलों में भेज दिया गया है. एक सर्कुलर में पंजाबी में लिखा हुआ है कि अध्यापकों के रिटायरमेंट के समय होने वाली फेयरवेल पार्टी या विदाई समारोह बंद किए जाएंगे.

पंजाब सरकार का तर्क है कि इससे स्कूल में स्टूडेंट्स का समय तो बर्बाद होता ही है बल्कि अध्यापकों का धन भी बर्बाद होता है. वहीं दूसरे सर्कुलर में लिखा गया है की दसवीं और 12वीं क्लास के जो स्टूडेंट स्कूल छोड़ते हैं. उनको अंतिम वर्ष में स्कूल छोड़ने से पहले दी जाने वाली फेयरवेल पार्टी पर भी बैन लगेगा.

पढ़ें-अमित शाह का बड़ा बयान- 2019 लोकसभा चुनाव से पहले शुरू कर देंगे राम मंदिर निर्माण

बता दें कि इससे पहले राज्य के शिक्षा मंत्री ने फरमान जारी किया था कि पंजाब के सरकारी स्कूलों के अध्यापक अपने मनमुताबिक ड्रेस पहनकर स्कूल में नहीं आ सकते हैं. जिसके बाद काफी बवाल मचा हुआ है. राज्य सरकार ने सरकारी अध्यापकों को पेंट-कमीज पहनकर आने का फरमान सुनाया था वहीं महिला अध्यापकों को भी प्लाजो, कैपरी, ट्राउजर, लेगिंग और जींस को ना कहने की बात कही थी.

पढ़ें-'स्वर्ण बेटी' हिमा दास का एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया ने अंग्रेजी न आने पर किया अपमान

शिक्षा मंत्री ने यह भी कहा था यदि अध्यापक स्कूल के दिन आकर चंडीगढ़ में धरना प्रदर्शन करते हैं तो उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी. वहीं स्कूल विभाग का सिलेबस बदलने की भी बात की जा रही है. विभाग ने कई सारे ऐसे फैसले लिए हैं, जो न तो अध्यापकों और न ही विद्यार्थियों के गले उतर रहे हैं.

हैरान करने वाली बात यह है कि राज्य के शिक्षा मंत्री को शिक्षा विभाग द्वारा लिए गए कई फैसलों की अभी जानकारी तक नहीं है. वहीं इस पर अब बवाल भी शुरू हो गया है. पंजाब के पूर्व शिक्षा मंत्री डॉ दलजीत चीमा ने कहा कि पंजाब में शिक्षा विभाग द्वारा जारी किए गए आदेश के बावजूद भी शिक्षा का स्तर सुधर नहीं रहा है.

First published: 14 July 2018, 9:26 IST
 
अगली कहानी