Home » राज्य » Supreme Court rejects 10 year old rape survivors plea to abortion.
 

सुप्रीम कोर्ट: रेप पीड़ित 10 साल की बच्ची का नहीं होगा गर्भपात

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 July 2017, 17:31 IST

सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को 10 साल की रेप पीड़ित लड़की को गर्भपात की इजाजत नहीं दी है. कोर्ट ने लड़की की मेडिकल रिपोर्ट पर विचार करते हुए उसकी याचिका को खारिज कर दिया है. रिपोर्ट में बताया गया है कि गर्भपात करना लड़की और उसके बच्चे दोनों के लिए नुकसानदेह हो सकता है. नाबालिग लड़की 32 सप्ताह की गर्भवती है. 

दरअसल 25 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट ने व्‍यवस्‍था देते हुए कहा था कि चंडीगढ़ पीजीआई के मेडिकल बोर्ड से बच्ची की जांच कराई जाए. चंडीगढ़ लीगल सर्विस अथॉरिटी को सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि वो बच्ची की जांच कराए. कोर्ट ने इस मामले में शुक्रवार तक रिपोर्ट दाखिल करने को कहा था.  

सुप्रीम कोर्ट ने साथ ही केंद्र को सुझाव दिया है कि प्रत्येक राज्य में ऐसे मामलों में तत्परता से निर्णय लेने के लिए स्थाई मेडिकल बोर्ड गठित करे. 18 जुलाई को चंडीगढ़ कोर्ट ने भी लड़की की याचिका को खारिज कर दिया था. दरअसल, कोर्ट के संज्ञान में यह बात आई थी कि लड़की 26 सप्ताह की गर्भवती है. इसके बाद वकील अलख आलोक श्रीवास्तव ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी.

मामा ने किया रेप

10 साल की बच्ची के साथ उसके मामा ने कई बार रेप किया था जिसके बाद वो गर्भवती हो गई, लेकिन इसके बारे में जब पता चला तब तक गर्भ 20 हफ्ते से ज्यादा का हो चका था. इसके बाद कहीं से इजाजत न मिलने पर बच्ची की ओर से सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की गई है. 

First published: 28 July 2017, 17:31 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी