Home » राज्य » Tamil nadu CM Panneerselvam didn't inaugurate Jallikattu in Madurai, faced opposition of protestors & returned back
 

तमिलनाडु सीएम पनीरसेल्वम नहीं कर सके जल्लीकट्टू का उद्घाटन, विरोध के चलते जाना पड़ा वापस

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 January 2017, 14:30 IST

तमिलनाडु के राज्यपाल विद्यासागर राव द्वारा जल्लीकट्टू अध्यादेश को शनिवार को मंजूरी देने के बाद रविवार को मुख्यमंत्री ओ पनीरसेल्वम मदुरै में इस खेल के उद्घाटन के लिए पहुंचे. लेकिन इस दौरान उन्हें प्रदर्शनकारियों के भारी विरोध का सामना करना पड़ा. इसके बाद मुख्यमंत्री वापस चेन्नई लौट गए.

मदुरै में प्रदर्शनकारियों की मांग थी कि राज्य में जल्लीकट्टू के आयोजन का एक स्थायी समाधान लाया जाए. इसके बाद मदुरै पहुंचे मुख्यमंत्री ओ पनीरसेल्वम ने कहा कि हम जल्द ही तमिलनाडु विधानसभा में जल्लीकट्टू पर एक स्थायी कानून का मसौदा लाएंगे.

तमिलनाडु का अतिरिक्त कार्यभार संभाल रहे महाराष्ट्र के राज्यपाल सी विद्यासागर राव रविवार को चेन्नई पहुंचे थे. शनिवार को जल्लीकट्टी के आयोजन को लेकर अध्यादेश लाने के राज्य सरकार के प्रस्ताव को केंद्र से मंजूरी मिलने के बाद तमिलनाडु सरकार ने अध्यादेश पर अंतिम मुहर लगाई थी. अब स्थानीय सरकार पेटा पर बैन लगाने की वकालत करेगी.

वहीं, मदुरै, रामेश्वरम समेत तमाम स्थानों पर तमाम लोग जल्लीकट्टू के आयोजन का स्थायी समाधान कराने को लेकर विरोध प्रदर्शन में जुटे हुए हैं. कई स्थानों पर रास्ते बंद कर दिए गए, लोगों ने धरने दिए और विरोध जताया. इसके चलते आठ ट्रेनों को भी रद्द करना पड़ा.

गौरतलब है कि जल्लीकट्टू के आयोजन के पक्ष में चेन्नई के मरीना बीच पर हजारों प्रदर्शनकारी लगातार पांच दिनों से जुटे हुए हैं. 2014 में सुप्रीम कोर्ट द्वारा जल्लीकट्टू पर प्रतिबंध ललगाने के बाद गत वर्ष केंद्र सरकार ने अध्यादेश जारी कर इसके आयोजन की इजाजत दे दी थी, लेकिन सरकार के इस अध्यादेश को फिर से सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दे दी गई और इस पर अंतिम फैसला आना बाकी है. 

First published: 22 January 2017, 14:30 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी