Home » राज्य » Uttarakhand: floods and landslides in many regions after Heavy rainfall,affected badrinath to kailash mansarovar yatra.
 

उत्तराखंड: बारिश के बाद भूस्खलन और बादल फटने से भारी नुकसान

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 August 2017, 14:04 IST

उत्तराखंड में भारी बारिश के बाद हुए भूस्खलन के कारण बदरीनाथ और कैलाश मानसरोवर तीर्थयात्रा के रास्ते कई जगहों पर खराब हो गए हैं. एक सरकारी अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी कि, बद्रीनाथ राजमार्ग, चमोली जिले में लामबगड़ इलाके में बंद कर दिया गया है. कैलाश मानसरोवर तीर्थयात्रियों के 14वें जत्थे को डीडीहाट क्षेत्र में रोक दिया गया है.

जानकारी के मुताबिक सिखों के तीर्थस्थल हेमकुंड साहिब की यात्रा पर जा रहे तीर्थयात्री इसके मार्ग में किसी प्रकार की बाधा नहीं आने के कारण सामान्य रूप से आगे बढ़ रहे हैं. राज्य में गंगा नदी का जल स्तर उफान पर है. इसके साथ ही राज्य की अन्य नदियों का जल स्तर भी बढ़ गया है. 

एक जिलाधिकारी ने कहा कि गैरसैंण में कुनीगाड में बादल फटने के कारण दो घर क्षतिग्रस्त हो गए और एक महिला लापता हो गई है. रुद्रप्रयाग में भारी बारिश जारी है और गौरीकुंड राजमार्ग कई स्थानों पर अवरुद्ध हो गया है, जिसके कारण केदारनाथ यात्रा बाधित हो गई है. अधिकारी ने कहा, "गंगोत्री और यमुनोत्री तीर्थयात्राएं राज्य के इन हिस्सों में भारी बारिश के बावजूद रास्ता साफ होने के चलते जारी हैं."

बाढ़ नियंत्रण इकाइयों के अनुसार, हरिद्वार में गंगा नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. वहीं, ऋषिकेश में गंगा खतरे के निशान से 40 सेमी ऊपर बह रही है. अल्मोड़ा में भारी बारिश की चेतावनी के बाद सभी स्कूलों को अगले कुछ दिनों के लिए बंद कर दिया गया है.

First published: 5 August 2017, 14:04 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी