Home » राज्य » vedanta copper Sterlite protests: Madras HC stays construction of new copper smelter
 

वेदांता के कॉपर स्टरलाइट में निर्माण पर मद्रास हाईकोर्ट ने लगाई रोक

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 May 2018, 13:34 IST

मद्रास उच्च न्यायालय की मदुरै बेंच ने बुधवार को स्टरलाइट कॉपर के तुतीकोरिन संयंत्र में विस्तार को लेकर चल रहे निर्माण कार्य पर में रोक लगा दी है. एक दिन पहले वेदांत की स्टरलाइट कॉपर इकाई के खिलाफ विरोध तुतीकोरिन में 11 लोगों की मौत हो गई थी और 40 अन्य घायल हो गए थे. कंपनी इस संयंत्र का विस्तार कर यहां 25 अरब रुपये का निवेश करने की योजना बना रही है और उसका कहना है कि इससे प्लांट की क्षमता प्रति वर्ष 800,000 टन हो जाएगी जो मौजूदा उत्पादन से दोगुनी होगी.

प्रदर्शनकारियों ने दावा किया कि संयंत्र अपने कर्मचारियों को नुकसान पहुंचा रहा है. इस पर कमल हसन ट्वीट करते हुए कहा कि ''हमें पता होना चाहिए कि इस फायरिंग का आदेश किसने किया था. यह मैं नहीं बल्कि पीड़ितों की मांग कर रहा हूं. केवल मुआवजे की घोषणा करना एक समाधान नहीं है. यह उद्योग बंद होना चाहिए और यही लोगों की मांग है''

 

इस बीच तमिलनाडु ने सीपीआई ने भी इसके खिलाफ प्रदर्शन किया.इस संयंत्र के बंद होने के दौरान तमिलनाडु प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने अप्रैल में स्मेल्टर संचालित करने के लिए वेदांता के लाइसेंस को खारिज कर दिया था और कहा कि कंपनी ने स्थानीय पर्यावरण कानूनों का पालन नहीं किया. स्टरलाइट ने इस कदम को चुनौती दी है. अब इस मामले में 6 जून को अगली सुनवाई स्थगित कर दी गई है. स्थानीय लोगों का यह भी आरोप है कि कंपनी ने कॉपर गलाने के बाद इसे नदी में बहा दिया और इसकी रिपोर्ट जारी नहीं की.

ये भी पढ़ें : देश के सबसे बड़े कॉपर एक्सपोर्ट करने वाले प्लांट का क्यों हो रहा है इतना विरोध ?

First published: 23 May 2018, 13:34 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी