Home » राज्य » VVIP Number of Rs 18 lakhs for Rs 60 thousands scooty in Himachal Pradesh
 

हिमाचल प्रदेश: 60 हजार की स्कूटी के लिए कंपनी ने लगाई 18 लाख रुपये के वीवीआई नंबर की बोली

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 June 2020, 13:10 IST

VVIP Number: दुनियाभर में फैले कोरोना वायरस (Corona Virus) में जहां करोड़ों लोगों की नौकरियां चली गई और उनके उद्योग धंधे चौपट हो, लेकिन कुछ लोगों ऐसे भी हैं जिन्हें कोरोना काल (Corona Period) में भी कोई फर्क नहीं पड़ा. जिसका अंदाजा इस खबर से लगाया जा सकता है कि हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में 60-70 हजार की स्कूल के लिए वीवीआईपी नंबर (VVIP Number) हासिल करने के लिए 18 लाख रुपये की बोली लग गई. जानकारी के मुताबिक, मामला हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा (Kangda) के शाहपुर उपमंडल (Shahpur Sub Division) का है. जहां ऊना जिले (Una District) की एक निजी कंपनी राहुल पैम प्राइवेट लिमिटेड ने एक नई स्कूटी शाहपुर में कंपनी के नाम रजिस्टर्ड करवाई.

इसके बाद कंपनी सरकार (Government) से हिमाचल प्रदेश का नंबर HP 90-0009 नंबर लेना चाहा. इस वीआईपी नंबर को लेने के लिए कंपनी ने सरकार की ओर से घोषित ऑनलाइन बोली में हिस्सा लिया. सरकारी की ओर से वीवीआईपी नंबर के लिए ये बोली पिछले शनिवार से शुरु हुई और शुक्रवार 26 जून की शाम को समाप्त हो गई. एक हफ्ता चली ऑनलाइन बोली में कंपनी ने स्कूटी के वीवीआईपी नंबर के लिए सबसे ज्यादा 18 लाख 22 हजार 500 रुपये की बोली लगा दी. अब कंपनी को इस नंबर के लिए तीन दिन के अंदर 18,22,500 रुपये जमा कराने होंगे. ये राशि कंपनी को शाहपुर एसडीएम दफ्तर में जमा करानी होगी.


कार रोककर भालू के बच्चों को देखने की कोशिश कर रहा था शख्स, वीडियो में देखें फिर हुआ क्या

उसके बाद कंपनी को स्कूटी के लिए ये वीवीआईपी नंबर दे दिया जाएगा. बताया जा रहा है कि इस वीवीआईपी नंबर के लिए शाहपुर के कुछ और लोगों ने भी 10 से 15 लाख रुपये तक बोली लगाई थी. बता दें कि इस वीवीआईपी नंबर के लिए सरकार ने पिछले हफ्ते ही खुली बोली लगाने की अधिसूचना जारी की थी. उधर, शाहपुर के एसडीएम मुरली लाल ने भी 18 लाख रुपये में वीवीआईपी नंबर की बोली लगाने की पुष्टि की है.

तेंदुए को छूने के लिए युवक ने पिंजरे में डाला हाथ, वीडियो में देखिए फिर हुआ क्या

ये कोई पहला मामला नहीं है जब वीवीआईपी नंबर के लिए लिए लोगों ने लाखों रुपये की बोली लगाई हो. इससे पहले चंडीगढ़ में भी वीवीआईपी नंबर के लिए बोली लगाई गई थी. चंडीगढ़ में पिछले साल रजिस्ट्रिंग एंड लाइसेंसिंग अथाॅरिटी(आरएलए) की तरफ से CH-01 BY सीरीज के फेंसी नंबरों की नीलामी की गई थी. रजिस्ट्रेशन के बाद जब बोली शुरू हुई तो सबसे ज्यादा बोली 0001 नंबर के लिए लगाई गई थी. इसके लिए रिजर्व प्राइस 50 हजार रुपए से आगे 1 लाख रुपये की लगी. लेकिन इसके बाद इसकी बोली दूसरे एप्लीकेंट ने सीधे 15 लाख रुपये लगा थी. हालांकि ये बोली ऑक्शन पूरी होने तक इतनी ही रही, लेकिन फिर भी ये नंबर बिका 1 लाख रुपये में ही बिका था.

VIDEO: पेड़ के नीचे आराम फरमा रहा था शेर, तभी सियार ने आकर खींच दी पूंछ और फिर...

First published: 27 June 2020, 13:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी