Home » राज्य » West Midnapur: Computers at WB State Electricity Distribution Company at four locations suspected to be hit by Ransomware attack.
 

भारत में 'Ransomware' अटैक, 2 राज्यों में सरकारी सेवाओं पर निशाना

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 May 2017, 16:36 IST

पश्चिम बंगाल के पश्चिमी मिदनापुर में राज्य बिजली कंपनियों पर 'Ransomware' वायरस के अटैक की खबर है. ये साइबर हमला पश्चिमी मिदनापुर के चार इलाकों में हुआ है. जानकारी के मुताबिक पश्चिमी मिदनापुर के पश्चिम बंगाल राज्य विद्युत वितरण कंपनी के कम्प्यूटरों में रैंसमवेयर वायरस का अटैक हुआ है. ये साइबर हमला पश्चिम बंगाल राज्य विद्युत वितरण कंपनी की चार जगहों पर हुआ है.

रैंसमवेयर वायरस अटैक की जानकारी मिलने के बाद पश्चिम बंगाल में खलबली मच गई है. सभी विभागों को राज्य सरकार ने अलर्ट कर दिया है. इस साइबर हमले से पश्चिम बंगाल राज्य विद्युत वितरण कंपनी की सर्विस पर कितना असर हुआ है. इसका आकलन कंपनी कर रही है.

पश्चिम बंगाल के अलावा केरल में भी  'Ransomware' वायरस के हमले की खबर है. यहां पंचायत ऑफिस के चार कंप्यूटर पर ये साइबर अटैक हुआ है. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

यूरोप सहित दुनिया के कई देशों पर बड़ा साइबर हमला हुआ है. फिरौती के लिए दुनिया के कई संगठनों पर ये साइबर हमला हुआ है. इतने बड़े पैमाने पर साइबर हमला होने के बाद पूरी दुनिया में खलबली मची हुई है. 

दरअसल शुक्रवार को यूरोप समेत लगभग दुनिया के आधे देशों में हुए इन साइबर हमलों के बाद एक प्रोग्राम ने हज़ारों जगहों के कंप्यूटर्स लॉक कर दिए गए थे. उसके बाद पेमेंट नेटवर्क 'बिटकॉइन' के ज़रिये बड़े पैमाने पर फिरौती के संदेश इन संगठनों के पास पहुंच रहे हैं. ब्रिटेन की नेशनल हेल्थ सर्विस (एनएचएस) इससे बुरी तरह प्रभावित हुई थी. बताया जा रहा है कि हजारों मरीजों के ऑनलाइन रिकॉर्ड पहुंच के बाहर हो गए हैं.

भारत में आंशिक तौर पर कुछ जगहों पर  'Ransomware' वायरस के हमले की खबरें आई थी. इसके बाद देश की साइबर सुरक्षा एजेंसी ने इंटरनेट उपयोगकर्ताओं को विश्व भर में तेजी से फैल रहे वनाक्राई रैंसमवेयर की हानिकारक गतिविधियों को लेकर आगाह किया है.

क्या है रैनसमवेयर?

रैनसमवेयर एक कंप्यूटर वायरस है. ये वायरस कंप्यूटर में मौजूद फ़ाइलों और वीडियो को इनक्रिप्ट कर देता है. अटैक करने के बाद पहले यह फाइल को बर्बाद करने की धमकी देता है और इसके बदले फिरौती की मांग की जाती है.

फिरौती की रकम नहीं देने पर ये आपके फाइल को बर्बाद कर देता है. इस वायरस की ख़ास बात ये है कि इसमें फिरौती चुकाने के लिए समयसीमा निर्धारित की जाती है और अगर समय पर पैसा नहीं चुकाया जाता है, तो फिरौती की रकम बढ़ जाती है.

First published: 15 May 2017, 16:36 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी