Home » उत्तर प्रदेश चुनाव » Amar Singh: SP feud was scripted aimed to distract anti-incumbency
 

अमर सिंह: मुलायम ने फैमिली ड्रामे की लिखी स्क्रिप्ट, सत्ता विरोधी लहर को भटकाने की चाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 February 2017, 9:33 IST
(फाइल फोटो)

अमर सिंह ने आरोप लगाया है कि यूपी चुनाव से ठीक पहले समाजवादी पार्टी का फैमिली ड्रामा सत्ता विरोधी लहर से ध्यान भटकाने के लिए रचा गया था. एक न्यूज़ चैनल को दिए इंटरव्यू में अमर सिंह ने यह सनसनीखेज आरोप लगाया है. 

अमर सिंह ने न्यूज़ 18 इंडिया को दिए साक्षात्कार में कहा कि सपा में राजनीतिक संकट एक सोचा-समझा सुनियोजित नाटक था. मुलायम सिंह ने ही इस झगड़े की स्क्रिप्ट लिखी, जिससे यूपी चुनाव से पहले अखिलेश यादव का कद और बड़ा हो सके. 

'हर किसी को फैमिली ड्रामे में मिला रोल'

अमर सिंह ने कहा, "अखिलेश मुझे बाहरी कहते हैं, तो मैं तो हमेशा से बाहरी था. वहां पर अंदर के लोग तो सिर्फ मुलायम सिंह, अखिलेश यादव, शिवपाल यादव और रामगोपाल यादव हैं, सारे निर्णय ये चार लोग करते हैं. सपा के पुरोधा मुलायम सिंह और उनके बेटे एवं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश एक हैं और एक ही रहेंगे."

अमर सिंह ने कहा कि यह एक सुनियोजित नाटक था जिसमें हर किसी को भूमिकाएं दी गयी थीं. सपा से निकाले गए राज्यसभा सांसद ने कहा कि बाद में मैंने महसूस किया कि मेरा इस्तेमाल किया जा रहा है. 

मुलायम को बेटे से हारना पसंद

अमर ने कहा, "मुलायम ने दबाव डालकर मुझे लंदन भेजा था. मुझे अखिलेश समर्थकों के गुस्से का डर दिखाया गया. मैंने महसूस किया कि यह सत्ता विरोधी लहर, कानून व्यवस्था की स्थिति से ध्यान भटकाने का एक हथकंडा था. मुलायम को अपने बेटे के हाथों हारना पसंद है और साइकिल, बेटा और सपा उनकी कमजोरियां हैं. मतदान के दिन भी पूरा परिवार साथ गया. इसलिए यह सब नाटक क्यों?"

अमर सिंह ने आरोप लगाया कि यह सब ड्रामा अखिलेश यादव की छवि सुधारने के लिए था. मुलायम सिंह को साफ पता था कि चुनावों में उनके पास ऐसा कुछ भी नहीं है जिसे लेकर जनता के सामने जाएं. अमर सिंह इससे पहले भी कई बार कह चुके हैं कि सपा में पारिवारिक विवाद सुनियोजित साजिश थी.

एक जनवरी को सपा के राष्ट्रीय अधिवेशन में जो चार बड़े फैसले लिए गए उनमें एक फैसला अमर सिंह को पार्टी से निष्कासित करने का था. इसके अलावा मुलायम सिंह को सपा का संरक्षक बनाना, अखिलेश यादव को राष्ट्रीय अध्यक्ष की जिम्मेदारी और शिवपाल यादव को प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाने का फैसला हुआ था.

First published: 22 February 2017, 9:33 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी