Home » उत्तर प्रदेश चुनाव » Amit Shah in Lucknow: Three Samajwadi Party MLC and one BSP MLC resigns including Bukkal Nawab
 

शाह ने लगाई सपा-बसपा में सेंध

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 July 2017, 17:14 IST

बिहार के बाद अब उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भी सियासी उठापटक का दौर शुरू हो गया है. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने लखनऊ पहुंचते ही समाजवादी पार्टी और बसपा में सेंध लगा दी है. सपा के दो और बसपा के एक एमएलसी ने इस्तीफा दे दिया है.

सपा को बड़ा झटका उस समय लगा जब विधान परिषद सदस्य (एमएलसी) और राष्ट्रीय शिया समाज के संस्थापक सदस्य बुक्कल नवाब ने सभापति को अपना इस्तीफा दे दिया. उनके अलावा सपा एमएलसी यशवंत सिंह ने भी इस्तीफा दे दिया है.

बुक्कल नवाब ने हाल के दिनों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ की है. ऐसा माना जा रहा है कि इस्तीफ़ा देने वाले सपा के एमएलसी भाजपा में शामिल हो सकते हैं.

बुक्कल नवाब ने कहा कि एक साल से वह पार्टी में घुटन महसूस कर रहे थे. समाजवादी पार्टी एक अखाड़ा बन गया है. पार्टी में मुलायम सिंह यादव का अपमान हो रहा है.

इस बीच भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह लखनऊ पहुंच चुके हैं. विधान परिषद सदस्यों के इस्तीफे को शाह के गेम प्लान का हिस्सा माना जा रहा है. इस घटनाक्रम को कुछ मंत्रियों को एमएलसी बनाने का रास्ता साफ करने के तौर पर देखा जा रहा है. खाली सीटों पर भाजपा नेता उपचुनाव लड़ सकते हैं.

बसपा के भी एक एमएलसी ठाकुर जयवीर सिंह ने पार्टी छोड़ दी है. मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ, डिप्‍टी सीएम दिनेश शर्मा, केशव प्रसाद मौर्य के अलावा मोहसिन रजा और स्‍वतंत्र देव सिंह अभी किसी सदन के सदस्य नहीं हैं.

मंत्रिमंडल का सदस्‍य होने के नाते इनको किसी सदन का सदस्‍य होना जरूरी है. ऐसे में खाली सीटों पर इन नेताओं को भाजपा समायोजित करने का प्लान तैयार कर रही है. दो महीनों के भीतर भाजपा सरकार के मंत्रियों को किसी सदन का सदस्‍य बनाना जरूरी है.

ऐसी चर्चा भी है कि फूलपुर से सांसद केशव प्रसाद मौर्य को मोदी मंत्रिमंडल में जगह मिल सकती है. 15 अगस्‍त के बाद केंद्र में मोदी मंत्रिमंडल का विस्‍तार हो सकता है, जिसमें केशव को शामिल किया जा सकता है.

First published: 29 July 2017, 14:38 IST
 
अगली कहानी