Home » उत्तर प्रदेश चुनाव » Atiq Ahmad: Akhilesh Yadav is our CM candidate and Mulayam Singh is leader
 

सपा दंगल में आज़म का दांव: अखिलेश-मुलायम के बीच सुलह कराने में जुटे

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 December 2016, 12:58 IST

सपा के वरिष्ठ नेता आजम खान ने सपा में मचे सबसे बड़े घमासान में मध्यस्थ की भूमिका में आगे आए हैं. आजम के साथ अखिलेश यादव सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव के आवास पर पहुंच गए हैं. आजम के साथ सपा नेता अबु आजमी भी हैं. इससे पहले आजम ने अखिलेश और मुलायम से अलग-अलग बातचीत की.  

 इससे पहले आजम ने अखिलेश के आवास और विक्रमादित्य मार्ग पर सपा दफ्तर में बैठक में हिस्सा नहीं लिया. आजम अब भी सुलह की कोशिश में लगे हैं. आजम सबसे पहले मुलायम के आवास पर पहुंचे और उनसे बातचीत की. 

इसके बाद आजम वहां से सीएम अखिलेश यादव के आवास पर पहुंचे. वहीं राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने भी मुलायम सिंह से बात की है. लालू ने कहा है कि सांप्रदायिक ताकतों से लड़ने के लिए सभी को एकजुट रहने की जरूरत है. 

लखनऊ में शिवपाल यादव और मुलायम सिंह यादव के आवास की सुरक्षा बढ़ा दी गई है. लखनऊ में मुलायम सिंह के आवास 5 विक्रमादित्य मार्ग पर भारी सुरक्षा जमावड़ा देखा जा रहा है. 

मुलायम पर भारी अखिलेश

उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी में मचे घमासान के बीच अब शक्ति प्रदर्शन का दौर है. जहां एक ओर सीएम अखिलेश यादव के आवास पर 200 से ज्यादा विधायक पहुंचे, वहीं सपा कार्यालय 19 विक्रमादित्य मार्ग पर शिवपाल यादव के अलावा ओम प्रकाश सिंह, नारद राय समेत अतीक अहमद जैसे गिनती के विधायक ही पहुंचे. 

जाहिर है इस जंग में अखिलेश अपने पिता मुलायम सिंह यादव पर भारी पड़े हैं. इस बीच मुलायम की जारी लिस्ट में कानपुर कैंट से टिकट पाने वाले अतीक अहमद का बयान सामने आया है. दरअसल अखिलेश ने अतीक समेत कई दागी उम्मीदवारों को सपा सुप्रीमो को भेजी 403 प्रत्याशियों की लिस्ट में जगह नहीं दी थी. 

'नेता मुलायम और सीएम पसंद अखिलेश जी'

लखनऊ में सपा की बैठक में शामिल होने पहुंचे अतीक अहमद ने कहा, "अगर हम वजह हैं, तो हम पीछे हटने को तैयार हैं." 

अतीक ने साथ ही कहा, "नेता हमारे मुलायम सिंह यादव जी हैं और सीएम पसंद अखिलेश जी हैं." गौरतलब है कि अतीक अहमद से इससे पहले भी अखिलेश यादव सार्वजनिक मंच पर नाराजगी का इजहार कर चुके हैं. एक सभा में करीब आने की कोशिश कर रहे अतीक को अखिलेश ने पीछे हटा दिया था.  

First published: 31 December 2016, 12:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी