Home » उत्तर प्रदेश चुनाव » Babua CM Akhilesh promoting our party symbol Elephant, said Mayawati in a rally at Lucknow
 

मायावतीः 'बबुआ' अखिलेश मुफ्त में कर रहे हमारे चुनाव चिन्ह हाथी का प्रचार

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 December 2016, 13:14 IST
(फाइल फोटो)

बसपा सुप्रीमो मायावती ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को एक बार फिर से बबुआ कहते हुए कहा कि बबुआ की तरक्की बाबा साहब की ही देन है. मुलायम परिवार एहसान फरामोश है. सपा सरकार का सीएम वास्तव में बबुआ है.

राजधानी लखनऊ में मंगलवार को अंबेडकर परिनिर्वाण दिवस के मौके पर बसपा प्रमुख मायावती शक्ति प्रदर्शन कर रही हैं. इस दौरान मायावती ने विरोधियों पर जमकर निशाना साधा और कहा कि अंबेडकर स्मारक में लगी मूर्तियों पर बबुआ अभद्र बयान देते हैं. 

मुख्यमंत्री बार-बार कहते हैं कि बसपा के लगवाए हाथी जो बैठे थे वो बैठे हैं और जो खड़े थे वो खड़े हैं, ऐसी बचकानी बात एक बबुआ ही कर सकता है. क्या जनेश्वर पार्क में लगी मूर्तियां अपना स्थान बदलती हैं, क्या वो पार्क में लगी मूर्तियां खड़ी नहीं हैं. बबुआ कभी बाबा सहब की जयंती पर छुट्टी लागू करते हैं तो कभी रद्द कर देते हैं.

इसके साथ ही मायावती ने यह भी कहा कि 9 अक्तूबर की रैली में जो हादसा हुआ उसके पीछे सपा की साजिश थी. उन्होंने कहा कि बबुआ अपने भाषण में हाथियों का जिक्र करना नहीं भूलता. 

लगता है कि हाथी बबुआ को सपने में परेशान कर रहे हैं. इसी बहाने फ्री में हमारे चुनाव चिह्न का प्रचार हो रहा है. मायावती ने कहा कि सपा सरकार जिसे फिजूलखर्ची बताती है वहां लोग घूमने जाते हैं जबकि सपा खुद सैफई में अपने मनोरंजन के लिए उत्सव करवाती है.

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि बाबा साहब ने लोगों को गुलामी से मुक्त करवाने के लिए संघर्ष किया. संघर्ष के बाद बाबा साहब ने खुद को काबिल बनाया था. उन्होंने भाजपा पर भी निशाना साधा और कहा कि बीजेपी और आरएसएस से सावधान रहने की जरूरत है. 

भाजपा और आरएसएस को बाबा साहब का संविधान पसंद नहीं. बसपा सुप्रीमो ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार को संविधान के तहत सभी को बराबर हक देने चाहिए. मायावती ने कहा कि पदोन्नति में आरक्षण बसपा सरकार की देन है. कांग्रेस सरकार ने एससी-एसटी को पूरी तरह आरक्षण नहीं दिया. कांग्रेस ने बाबा साहब को भारत-रत्न से नहीं नवाजा.

बाबा साहब अंबेडकर के 61वें परिनिर्वाण दिवस पर बसपा प्रमुख मायावती ने अति पिछड़ों ओर अन्य पिछड़ा वर्ग को टारगेट करते हुए कहा कि विरोधी पार्टियों ने हमेशा से समाज को बांटने का काम किया है. मायावती ने कहा दलितों और पिछड़ों को लेकर बीजेपी और कांग्रेस हमेशा फर्क पैदा करती रहीं है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए मायावती ने उन्हें उच्च जाति का बताते हुए आरोप लगाया कि वोटों की खातिर मोदी ने चोला बदला है. दरअसल वे उच्च जाति के लोगों के लिए दलितों का शोषण कर रहे हैं. बीजेपी को दलित विरोधी बताते हुए मायावती ने कहा कि बाबा साहेब को आदर और सम्मान नहीं देना चाहती है. यही वजह है कि प्राइवेट सेक्टर में आरक्षण लागू नहीं कर रही है.

First published: 6 December 2016, 13:14 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी